पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रदर्शन किया:काेदूकाेटा और सुवाणा में चार दिन से जलापूर्ति नहीं

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ककराेलिया घाटी पेयजल परियाेजना की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हाेने से गहरा रहा जल संकट

ककराेलिया घाटी पेयजल परियाेजना की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हाेने से पिछले चार दिन से सुवाणा व काेदूकाेटा में जलापूर्ति नहीं हाे रही है। ग्रामीणाें काे कुओं व हैंडपंपाें से पानी के लिए कतार लगानी पड़ रही है। काेदूकाेटा गांव में पिछले चार दिनाें से पेयजल आपूर्ति बाधित हाेने से आमजन परेशान है।

यहां पिछले तीन-चार दिनाें से पाइप लाइन में लीकेज के कारण नलाें से पानी नहीं मिल रहा है। जिसके चलते ग्रामीणाें काे गर्मी में हैंडपंपाें पर भटकना पड़ रहा है। सुवाणा ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी एससी प्रकाेष्ठ के अध्यक्ष भंवरलाल खटीक ने बताया कि काेदूकाेटा में ककराेलिया घाटी पेयजल याेजना से पानी सप्लाई हाेता है, लेकिन यह लाइन पिछले तीन दिनाें से लीकेज है, जाे अभी तक ठीक नहीं की गई।

इस कारण गांव में पानी नहीं पहुंच रहा है। ग्रामीणाें ने समस्या काे लेकर संबंधित अधिकारियाें काे शिकायत भी की, लेकिन सुनवाई नहीं हाेने से गांव वालाें में आक्राेश है। जल्द ही पेयजल व्यवस्था नहीं सुधारी ताे ग्रामीणाें द्वारा अधिकारियाें के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।

वर्तमान में हैंडपंपाें व निजी कुओं से पीने का पानी लाना पड़ रहा है। इसी तरह सुवाणा में भी जलदाय विभाग की लापरवाही से पिछले चार दिनों से नलों से पीने का पानी नही मिल रहा है। ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए हैंडपंपाें के पास कतारें लगानी पड़ रही है।

सरपंच अमित चाैधरी ने सुवाणा वासियों को चम्बल परियोजना से पानी दिए जाने की मांग की है। गांव में वर्तमान में कंकरोलिया घाटी परियोजना से पानी मिल रहा है। जिसकी पाइप लाइन आए दिन क्षतिग्रस्त हाेने से समस्या उत्पन्न हाे जाती है। 14 जून को पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के बावजूद अब तक उसे ठीक नहीं किए जाने से पेयजल संकट की स्थिति बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...