ये लापरवाही ठीक नहीं:लोग हरा धनिया लेने भी बाजार आ रहे; बांट रहे संक्रमण

भीलवाड़ा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्थान: यातायात पुलिस थाने के बाहर | समय: शाम 4 बजे - Dainik Bhaskar
स्थान: यातायात पुलिस थाने के बाहर | समय: शाम 4 बजे

कोरोना संक्रमण के चलते शहर के हालात भयावह हो चुके हैं। जन अनुशासन पखवाड़े में लोग बेवजह घरों से निकल रहे हैं। चौराहों पर पुलिसकर्मी खड़े हैं लेकिन कई लोग तंग गलियों से निकल जाते हैं और जब कहीं पुलिसकर्मी रोक रहे हैं तो तरह-तरह के बहाने बनाते हैं। उपखंड अधिकारी ओमप्रभा ने दोपहर एक बजे तक माइक्रो कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण किया। इस दौरान एक युवक से पूछा तो उसने बताया कि वह हरा धनिया लेने बाजार आया है। उसे हिदायत देकर छोड़ा गया।

भास्कर के फोटो जर्नलिस्ट प्रेम उपाध्याय ने बुधवार को कुछ चौराहों पर रहकर जाना कि छोटे-छोटे या गैरजरूरी कामों से बाजारों में आकर संक्रमण फैलने का कारण बन रहे ये लोग पुलिसकर्मियों से कैसे बहानेबाजी करते हैं।

स्थान: यातायात पुलिस थाने के बाहर | समय: शाम 4 बजे

यह देखा: लोग चालान बनाने के डर से गाड़ियां स्पीड से निकाल रहे थे। एक महिला व लड़की स्कूटी पर जा रहे थे। पूछा तो बोली, सब्जी लेने आए हैं। इस पर उन्हें वापस भेजा। एक युवक ने बताया कि वे खेत पर गायों को चारा डालने जा रहा है। कुछ लोगों ने कहा, हमारे परिवार में शादी है इसलिए जाना है।

स्थान: मुरली विलास रोड | समय: शाम 4.30 बजे

यह देखा: बाइक पर दो युवक आए थे। पुलिसकर्मियों ने रोका तो बताया कि वे दवा लेने आए हैं। उनसे दवा पर्ची मांगी तो बगलें झांकने लगे। बाद में उनका जुर्माना काटकर घर भेजा। एक महिला व पुरुष से पूछा तो तर्क दिया कि बहुत दिन हो गए ससुराल नहीं गए। घर पर कोई काम नहीं था तो वहां जा रहे हैं। इस पर उनको डांट लगाई।

स्थान : आजाद नगर | दुबारा लगाई बल्लियां भी तोड़ दीं

यह देखा: गंगापुर तिराहा से पांसल चौराहा के बीच आजाद नगर चौराहे पर लगाई गई बेरिकेटिंग को लोगों ने तोड़ दिया। बल्लियों को पुलिस ने वापस सही से लगवाया तो भी तोड़ दी। अब ये आड़ी-टेड़ी पड़ी हैं। इनके ऊपर से दिनभर वाहन आते-जाते रहे, जिन्हें पुलिसकर्मी बेबस देखते रहे। - राकेश पाराशर

खबरें और भी हैं...