अंतरराज्यीय धोखाधड़ी गिरोह का खुलासा:पौधे लगाने के नाम पर लोगों से करते थे धोखाधड़ी, कई राज्यों के लोगों को लगा चुके है चूना

भीलवाड़ाएक महीने पहले
दोनों को नेपाल बोर्डर से पकड़ा।

लोगों के खेतों में बेहतर किस्म के पौधे लगाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का मंगलवार रात को सुभाष नगर पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस गिरोह द्वारा प्रदेश के कई जिलों के लोगाें के साथ ही यूपी, बिहार, असम में भी कई लोगों को अपना शिकार बना चुके है। पुलिस ने इस गिरोह के दो सदस्य उत्तरप्रदेश रेवती जिले के बलिया निवासी सुमंत कुमार यादव व गोरखपुर के बगही निवासी मानवेंद्र पाण्डे उर्फ अजय पाण्डे को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा आरोपियों से राजस्थान व बाहरी प्रदेश में की गई धोखाधड़ी के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

सुभाष नगर थाना प्रभारी पुष्पा कासोटिया ने बताया कि इसी साल 4 सितंबर को माणिक्य नगर माली खेड़ा निवासी केदारमल काबरा ने खुद के साथ हुई धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया था। उन्होने बताया था कि उनकी दुकान पर सुमंत कुमार यादव, सुभाष यादव सहित तीन युवक आए थे। उन्होने अपने आप का परिचय यूनिवर्सल बॉयो टेक्नोलॉजी कम्पनी का अधिकारी बताया था। तीनों ने केदारमल से उसके बन का खेड़ा स्थित फार्म हाउस पर उन्नत किस्म के पौधे लगाने और उनका रखरखाव करने के साथ ही उसे फर्टिलाइजर प्रोडक्ट की एजेंसी देने का वादा किया। प्रार्थी ने उनकी बातों में आकर उनके खातें में 5 लाखा रुपए डाल दिए। अगले दिन प्रार्थी अपने खेते पर पौधों व तीनों युवकों का इंतजार करता रहा। लेकिन कोई नहीं आया। सभी का फोन भी बंद था। जब प्रार्थी चित्तौड़गढ़ स्थित उनके ऑफिस गया तो पता चला कि रातों रात उन्होने ऑफिस भी खाली कर दिया। इसके बाद से पुलिस इन आरोपियों की तलाश कर रही थी।

यूपी बिहार में काफी घूमने के बाद आए हाथ

सदर सीओ रामचंद्र चौधरी ने बताया पुलिस के पास इस गिरोह से जुड़ी ज्यादा जानकारी नहीं थी। ऐसे में पुलिस ने उत्तरप्रदेश व बिहार के अलग अलग स्थानों पर इनको ढूंंढना शुरू किया। अंत में इस गिरोह के सदस्यों का असली नाम व पता सामने आ गया। लेकिन तब पता चला की अभी यह गिरोह असम के सिलीगुड़ी इलाके में सक्रिया है। इसके बाद इन दोनों को पुलिस ने इन्हे नेपाल बोर्डर के पास से गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...