भीलवाड़ा में ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन:प्रति मिनट करीब 500 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन का उत्पादन होगा, PM मोदी ने प्लांच का वर्चुअल शुभारंभ किया

भीलवाड़ा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जहाजपुर सीएचसी में नया ऑक्सीजन प्लांट। - Dainik Bhaskar
जहाजपुर सीएचसी में नया ऑक्सीजन प्लांट।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जिले के जहाजपुर इलाके को ऑक्सीजन प्लांट के रूप में नई सौगात दी है। आने वाले कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को भांपते हुए जहाजपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पीएम केयर और सीएसआर फंड से ऑक्सीजन प्लांट तैयार किया गया। जिसका गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश नहीं दूसरी कोरोना की दूसरी लहर में काफी कुछ सहन किया है। देशवासियों को आने वाले समय में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो, खासकर ऑक्सीजन जैसी चीज के लिए लोगों की जान ना जाए। इसी को लेकर देशभर में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं।

जहाजपुर सीएचसी ने ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल उद्घाटन करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
जहाजपुर सीएचसी ने ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल उद्घाटन करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जहाजपुर में पीएम केयर्स और सीएसआर फंड से एक करोड़ सत्तावन लाख रुपए से निर्मित ऑक्सीजन जनरेसन प्लांट सर सीएचसी को काफी फायदा मिलेगा। सीएचसी में 54 बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा मिलेगी। जिसमें कोविड वार्ड, लेबर रूम, एनबीएसयू वार्ड, ऑपरेशन थिएटर, आईसीयू वार्ड के अलावा सक्शन पॉइंट व एयर पॉइंट मिलाकर 102 पॉइंट पर ऑक्सीजन उपलब्ध रहेगी। इस मौके पर विधायक गोपीचंद मीणा, अतिरिक्त जिला कलेक्टर राजेश गोयल, उपखंड अधिकारी दामोदर सिंह खटाना, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर मुस्ताक खान, तहसीलदार मुकुंद सिंह शेखावत, ब्लॉक चिकित्सा डॉक्टर अधिकारी जेपी गोयल, चिकित्सा प्रभारी डॉक्टर नईम अख्तर, कोटड़ी प्रधान करण सिंह बेलवा सहित कई लोग मौजूद थे।

प्रति मिनिट 500 लीटर ऑक्सीजन

इस प्लांट में प्रति मिनट करीब 500 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन का उत्पादन होगा। जिससे मरीजों को बेड पर ही ऑक्सीजन की सुविधा मिलेगी। वर्चुल उद्घाटन के मौके पर चिकित्सालय परिसर में बड़ी स्क्रीन लगाकर दिखाया गया। इस ऑक्सीजन प्लांट को जहाजपुर के मेलनर्स सुरेंद्र शर्मा ही ऒपरेट करेंगे। जबकि इस प्लांट को चलाने के लिए इंजीनियर की आवश्यकता होती है। फिलहाल यहां पर इंजीनियर का पद खाली है।

खबरें और भी हैं...