पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:राेज 10 क्यूबिक मीटर से ज्यादा पानी उपयाेग किया ताे प्रति हजार लीटर 10 रु. सेस,सालाना 30 लाख तक का बाेझ

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टेक्सटाइल उद्योग, माइनिंग सहित अन्य उद्योगों पर लगाए सेस का मेवाड़ चैंबर ने विराेध किया

केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय ने 24 सितंबर को गजट नाेटिफिकेशन जारी कर नदी विकास एवं गंगा पुर्नजीवन के लिए उद्योग, माइनिंग एवं वाणिज्यिक उपयोग के लिए हर दिन 10 क्यूबिक मीटर से अधिक जल के उपयाेग पर जल पुर्नभरण शुल्क लगा दिया है। उद्योगों पर यह शुल्क 10 रुपए प्रति एक हजार लीटर से लगाया है।

सामान्य गणना के अनुसार नए अादेश से भीलवाड़ा में टेक्सटाइल उद्योग, माइनिंग एवं अन्य उद्योगों को 15 से 30 लाख रुपए हर साल यह शुल्क देना होगा। इसके अलावा भूजल निकासी वाले उद्योगों काे अब सक्षम ऑडिटर से इंपेक्ट एसेसमेन्ट रिपोर्ट भी बनाकर देनी हाेगी। मेवाड़ चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को प्रतिवेदन भेजकर उद्योगों एवं माइनिंग पर भूजल पुर्नभरण शुल्क लगाने एवं भूजल निकासी पर इंपेक्ट एसेसमेन्ट रिपोर्ट दाखिल करने के नियम का विरोध करते हुए वापस लेने की मांग की है। मेवाड़ चैंबर के महासचिव आरके जैन ने बताया कि प्रतिवेदन में बताया गया कि उद्योगों के

लिए कहीं भी सतही या नदी का जल उपलब्ध नहीं कराया जाता है। माैजूदा प्रावधानों के अनुसार एनओसी लेकर भूजल के उपयोग के अलावा ओर कोई विकल्प नही है। अगर उद्योगों को सतही या नदी का जल उपलब्ध हो तो कोई भी उद्योग भूजल का उपयोग नही करना चाहेगा क्योंकि भूजल कठोर होता है अाैर इसकाे उपयोग लेने योग्य बनाने में भी लागत आती है। अभी अधिकांश उद्योग अपने निकले हुए पानी काे रि-ट्रीट

कर पुर्नउपयोग करते हैं। सभी उद्योगों में वर्षा का जल एकत्रित करने के लिए भी पर्याप्त व्यवस्था है। इससे भूजल का पुर्नभरण होता है। उद्योगों को पुनर्भरण उपायों के लिए वर्तमान में भूजल उपयोग में 50 प्रतिशत की छूट है जिसे बढ़ाकर 80 प्रतिशत की छूट मिलनी चाहिए ताकि पुनर्भरण के लिए उद्यमियाें काे प्रेरणा मिले।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें