राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सुभाषनगर का मामला:प्रिंसिपल व सदस्यों में तनाव होने से एक साल से नहीं हो रही स्कूल प्रबंध समिति की बैठक

भीलवाड़ा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुभाषनगर स्कूल के जर्जर भवन में विद्यार्थियों की सुरक्षा के मामले में डीईओ (मुख्यालय) माध्यमिक बंशीलाल कीर ने बुधवार को स्कूल का निरीक्षण किया। - Dainik Bhaskar
सुभाषनगर स्कूल के जर्जर भवन में विद्यार्थियों की सुरक्षा के मामले में डीईओ (मुख्यालय) माध्यमिक बंशीलाल कीर ने बुधवार को स्कूल का निरीक्षण किया।

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सुभाषनगर में 15 महीने से विद्यालय विकास एवं प्रबंध समिति (एसडीएमससी) की बैठक नहीं होने का जाे कारण बताया गया, वह शहर के किसी सीनियर सैकंडरी स्कूल प्रबंधन के लिहाज से चिंताजनक है। आखिरी बैठक पिछले सत्र में 20 जुलाई को बुलाई थी। बताया कि उसमें प्रधानाचार्य एवं एसडीएमसी सदस्यों के बीच माहाैल तनावपूर्ण हाे गया था। इसके बाद बैठक बुलाई ही नहीं गई। अब स्कूल का भौतिक विकास ठप है।

सुभाषनगर स्कूल में 12 कमरे ही हैं। जबकि पहली पारी में कक्षा 9 से 12 के 1 हजार 323 छात्र-छात्राओं के 16 कक्षा वर्ग हैं। दूसरी पारी में कक्षा 1 से 8 के 646 छात्र-छात्राओं के 11 कक्षा वर्ग हैं। प्रधानाचार्या उर्मिला जाेशी ने विभाग को तथ्यात्मक रिपोर्ट भेजी।

इसके अनुसार, स्कूल के कमरा नंबर 4 एवं 27 के सामने बरामदे के पिलर का प्लास्टर गिर रहा है। निर्माण में भी गेप आ गया। इसी प्रकार, हॉल एवं कमरा नंबर 25 में आरसीसी के सरिए से प्लास्टर निकल रहा है। कमरा नंबर 3 से 10 एवं 25 के सामने बरामदे में प्लास्टर गिर रहा है। इधर, माध्यमिक शिक्षा निदेशालय एवं मुख्यमंत्री कार्यालय की विजिलेंस टीम ने मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी से तथ्यात्मक रिपोर्ट तलब की है।

खबरें और भी हैं...