पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021:स्वच्छता जांचने सर्वे टीम नगरपरिषद को सूचना दिए बिना जाएगी फील्ड में, एक मार्च के बाद कभी भी आ सकती है

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले फोन पर सवाल पूछकर जानी सफाई की स्थिति अब आएगी टीम

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 में कुछ बदलाव किए गए हैं। इन बदलावों में से एक सर्वेक्षण के लिए आने वाली टीम से जुड़ा है। दरअसल स्वच्छता सर्वेक्षण की शुरुआत से ही सर्वेक्षण टीम नगर निकायों में आती है। निकायों की ओर से उपलब्ध कराए गए दस्तावेजों की सत्यता मौके पर जाकर जांच करती है। अक्सर टीम आने से पहले संबंधित निकाय के अधिकारियों से संपर्क करते हैं, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। इस बार टीम निकाय के किसी अधिकारी कर्मचारी से संपर्क नहीं करेगी। सीधे ही कॉलोनियों में पहुंचकर सफाई व्यवस्थाओं के हालात जानेगी।

जांच में सही मिला तो मिलेंगे 2400 अंक
इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण 6 हजार अंकों का है। पहले प्रत्येक भाग 1500 अंकों का था लेकिन इस बार दो भाग 1800 और एक भाग 2400 अंकों का है। दो क्वार्टर में ऑन कॉल ऑब्जरवेशन 600 -600 अंकों का है। तीसरे क्वार्टर में टीम आकर जांचकर करेगी इसके 1200 अंक है। ये टीम 1 मार्च से 28 मार्च के बीच नगर निकायों में आएगी।
एमआईएस के आधार पर जांची गई सफाई की स्थिति
स्वच्छता सर्वेक्षण के साथ ही हर महीने में नगर निकाय की ओर से एमआईएस भरा जाता है यानी सफाई के आंकड़े अपलोड किए जाते है। इन आंकड़ों की सत्यता जांचने के लिए फोन पर सवाल पूछे गए। दो क्वार्टर में इस तरह की आंकड़ों की सत्यता जांची गई है। दो क्वार्टर में इसके 1200 अंक है। अब टीम मार्च में आकर जांच करेगी। इसके 1200 अंक अलग से है।

पहले शहरवासियों को ट्रेंड कर देंगे जमादार
नगर परिषद की ओर से जमादारों की कराई गई ट्रेनिंग का फायदा इस ऑब्जरवेशन में मिलेगा। जनवरी और फरवरी में जमादार घर घर जाकर आठ सवाल पूछेंगे। ये एक तरह का फीडबैक होगा। इससे शहरवासी प्रशिक्षित हो जाएंगे। जब मार्च में टीम आएगी तो सवालों के जवाब सही तरीके से दिए जा सकेंगे। शहरवासियों से पूछा जाएगा कि सफाई की स्थिति कैसी है, ऑटो टिपर आता है या नहीं, गीला और सूखा कचरा अलग अलग एकत्रित किया जाता है या नहीं, कचरा लेने वाला यूनिफॉर्म में आता है या नहीं। इस तरह के सवालों पूछे जाएंगे। शहरवासियों के सकारात्मक जवाब से बेहतरीन अंक मिल सकेंगे।

स्वच्छता एप, वोट फोर योर सिटी के जरिए दें फीडबैक
नगर परिषद में स्वच्छता के नोडल प्रभारी पुष्पेंद्र बैरागी ने बताया कि अपने शहर को अच्छी रैंकिंग दिलानी है तो इसके लिए सभी को प्रयास करने होंगे। जितने अधिक फीडबैक दिए जाएंगे उतना अधिक शहर की रैंकिंग बढ़ने में योगदान मिलेगा। फीडबैक देने के कई माध्यम है। स्वच्छता एप, वोट फोर योर सिटी के जरिए फीडबैक दे सकते है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें