पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना काल:सिंथेटिक विविंग मिल्स 500 टन सोडियम हाइपोक्लाइड देगा...200 शेल्टर होम बनाएगा

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिथेंटिक विविंग मिल्स एसोसिएशन ने सोडियम हाइपोक्लोराइट से भरे टैंकर रवाना किए। - Dainik Bhaskar
सिथेंटिक विविंग मिल्स एसोसिएशन ने सोडियम हाइपोक्लोराइट से भरे टैंकर रवाना किए।
  • राजस्थान के शहरी निकाय/स्वास्थ्य केंद्रों को देगी

कोरोना काल में सेवा के अलग अलग माध्यम से लोग आगे रहे है। भीलवाड़ा को टेक्सटाइल सिटी के नाम से मशहूर करने वाले उद्योगपति भी पहल कर रहे हैं। इस बार श्रमिकों के पलायन को रोकने, ऑक्सीजन की मांग पूरी करने और सेनेटाइजेशन के लिए सिंथेटिक विविंग मिल्स एसोसिएशन ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय पेड़ीवाल ने बताया कि राजस्थान और मध्यप्रदेश की सरकार को 250-250 टन निशुल्क सोडियम हाइपो क्लोराइट देंगे।

इसकी सप्लाई गुजरात के प्लांट से ली जा सकती है। इसके अलावा प्रदेश के शहरी निकायों / स्वास्थ्य केंद्रों को अलग से 10 -10 हजार लीटर सोडियम हाइपो क्लोराइट देंगे। ताकि सेनेटाइजेशन में किसी तरह की कमी नहीं रहे। एसोसिएशन की ओर से 50 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर मशीन मंगाई है जिसमें से 20 मशीन को वस्त्र भवन में लगाया जाएगा। बाकी की मशीनों को प्रशासन के साथ चर्चा करके जहां जरूरत होगी वहां उपलब्ध कराई जाएगी।

इसके अलावा बिलियां कला में साबिर मोहम्मद की शबनम फैक्ट्री में 200 बेड का शेल्टर होम बनाया जा रहा है। इसे एसोसिएशन की सदस्य इकाइयों के श्रमिकों के लिए बनाया गया है। यहां खाने के साथ ही रहने की निशुल्क सुविधा दी जाएगी। लेकिन शर्त यह है कि वह कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट पहले जमा करानी होगी। एसोसिएशन के सदस्यों की उपस्थिति में 42 हजार लीटर सोडियम हाइपोक्लाइट से भरे टैंकरों को मध्यप्रदेश के लिए वस्त्र भवन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

खबरें और भी हैं...