शादी से 10 दिन पहले दूल्हे ने दी जान:गांव की लड़की बनने वाली थी दुल्हन, नौकरी पर घरवालों से हुई बहस और किया सुसाइड

भीलवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शादी से दस दिन पहले अंबालाल नामक के एक युवक ने सुसाइड कर लिया है। यह घटना भीलवाड़ा शहर के मांडल कस्बे की है। दरअसल युवक की घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, जिसकी वजह से वो शादी से पहले नौकरी करना चाहता था। लेकिन उसके घर वाले इस बात पर राजी नहीं थे, जिसकी वजह उसकी अपने घरवालों से बहस हुई। बहस के बाद बुधवार रात युवक घर से निकल गया। घर से कुछ दूरी पर नृसिंग द्वार के पास बिजली के खंभे में फंदा डाल सुसाइड कर लिया।

युवक शव खंभे पर लटका देख ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। युवक का शव मोर्चरी में रखवाया गया है। गुरुवार सुबह पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया। मांडल थाना प्रभारी मुकेश वर्मा ने बताया कि मालियों के मंदिर के पीछे रहने वाले अंबालाल माली की मृतक के परिवार की आर्थिक स्थिति भी सही नहीं थी।

ग्रामीणों ने बताया कि अंबालाल कस्बे में ही सब्जी का ठेला लगाता था। 10 दिन बाद शादी थी तो घर पर तैयारियां भी चल रही थी।
ग्रामीणों ने बताया कि अंबालाल कस्बे में ही सब्जी का ठेला लगाता था। 10 दिन बाद शादी थी तो घर पर तैयारियां भी चल रही थी।

खंभे पर लटका शव देख डरे गांव वाले

घरवालों से झगड़ा होने के बाद युवक बिजली के पोल के पास जाकर बैठ गया। गांव के कुछ लोगों ने बताया कि कई देर तक वह पोल के पास की दीवार पर बैठा रहा। जब वहां से लोगों की आवाजाही कम होने लगी तो प्लास्टिक की रस्सी का फंदा डाल खंभे से लटक गया। कुछ देर बाद ग्रामीण वहां से गुजरने लगे तो खंभे पर लटकता हुआ शव देख एक बार वे भी डर गए। इसके बाद पुलिस को सूचना दी और ग्रामीणों की सहायता से शव को नीचे उतारा।

गांव की ही लड़की से हुआ था रिश्ता

ग्रामीणों ने बताया कि अंबालाल कस्बे में ही सब्जी का ठेला लगाता था। 10 दिन बाद शादी थी तो घर पर तैयारियां भी चल रही थी। लेकिन उसकी इच्छा थी कि वह बिजौलिया जाकर सब्जी का कोई काम करें, जिससे शादी में परिवार की मदद कर सके लेकिन घर वाले नहीं माने। अंबालाल की शादी 11 दिसंबर को गांव में ही रहने वाली एक लड़की से होनी थी।

खबरें और भी हैं...