पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • The Lockdown Is Not A Permanent Solution, The Economy Runs And The Karenna Infection Also Stops, The City to city Ratio Of Patients Is 70:30, So More Awareness Is Needed In Cities: Collector

सलाह:लाॅकडाउन स्थाई समाधान नहीं, अर्थव्यवस्था चले और काेराेना संक्रमण भी रुके, शहर-गांव में मरीजों का अनुपात 70:30 है इसलिए शहरों में जागरुकता की ज्यादा जरूरत : कलेक्टर

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते की जिले के लाेगों काे सलाह, सावधानी रखते हुए अब काेराेना के साथ जीना सीखना हाेगा

कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते का कहना है कि काेराेना संक्रमण काे राेकने के लिए एक-एक व्यक्ति का जागरूक हाेना जरूरी है। लाेगाें काे यह समझना हाेगा कि जीवन और अर्थव्यवस्था का चलना दाेनाें जरूरी हैं। काेराेना संक्रमण काे तब तक नहीं राेका जा सकता है जब तक हर व्यक्ति इसके लिए खुद की जिम्मेदारी नहीं समझेगा। लाॅकडाउन काेराेना संक्रमण राेकने का स्थाई समाधान नहीं है। इसलिए हमें जागरूक रहते हुए काेराेना के साथ जीना सीखना हाेगा। पढ़िए कलेक्टर नकाते भास्कर से किस विषय पर क्या बाेले-
कारण : पाॅजिटिव के संपर्क में रहते हुए सावधानी नहीं रखना
लाेगाें में जागरुकता की कमी है। सुभाष नगर में एक ही परिवार में एक पाॅजिटिव व्यक्ति से 10 व्यक्ति संक्रमित हाे गए, इसे क्या कहेंगे? जागरूक हाेते ताे ऐसा नहीं हाेता। इसलिए हर व्यक्ति के मन में यह विचार हाेना चाहिए कि मुझे काेराेना से कैसे बचना चाह? इसी तरह जिन व्यक्तियाें में किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देते हाें तो भी जांच करानी चाहिए ताकि स्थिति गंभीर हाेने से पहले ही संक्रमण राेका जा सके। लक्षण आने पर डाॅक्टर से चैक कराना चाहिए ताकि स्थिति साफ हाे सके और संक्रमण आगे से आगे नहीं फैले।
खतरा: बापूनगर, आजाद नगर व चंद्रशेखर आजाद नगर में
भीलवाड़ा शहरी क्षेत्र में आरसी व्यास, आरके काॅलाेनी व सुभाष नगर में ज्यादा पाॅजिटिव राेगी आ रहे थे। इसलिए वहां पर कुछ दिनाें के लिए लाॅकडाउन किया है। स्थिति सही हाेने पर लाॅकडाउन हटा देंगे। बापूनगर, आजाद नगर व चंद्रशेखर आजाद नगर में भी ज्यादा राेगी हैं इसलिए वहां के लाेगाें काे लाॅकडाउन से बचने के लिए अब ज्यादा सावधान रहने की जरुरत है।

जहां ज्यादा भीड़ रहती है वहां पर टीमें लगाकर सख्ती बढ़ाई जाएगी। हालांकि फिलहाल पूरे जिले में संपूर्ण लाॅकडाउन लगाने की काेई याेजना नहीं है। मेरा मानना है कि लाॅकडाउन स्थाई समाधान नहीं है क्याेंकि लाेग जागरुक हाे जाएंगे ताे संक्रमण की चेन टूट जाएगी।
ग्रामीण क्षेत्र: जागरुकता है इसलिए 30% मरीज
पिछले दिनाें के आंकड़ाें का विश्लेषण करें ताे पता चलता है कि शहरी क्षेत्राें में मरीज ज्यादा आ रहे हैं जबकि ग्रामीण क्षेत्र में संख्या कम हैं। शहरी क्षेत्राें की अपेक्षा गांवाें में लाेग ज्यादा जागरुक हैं। शहरी व क्षेत्र में राेगियाें का रेसा 70:30 है। इसलिए शहरी क्षेत्राें में भी गांवाें की तरह जागरुकता जरुरी है। गांवाें में जब तक पाॅजिटिव व्यक्ति ठीक नहीं हाे जाते वे पूरी सावधानी रखते हैं।

किस उम्र में ज्यादा संक्रमण: एक लाख की आबादी पर 40 से 70 साल के 66 संक्रमित
जिले में विश्लेषण करने पर पता चलता है कि प्रति एक लाख की आबादी पर 40 से 70 साल की उम्र के 66 लाेग संक्रमित हुए हैं जबकि 20 से 40 साल की उम्र के 43 व्यक्ति संक्रमित हुए हैं। इसलिए 40 साल से ज्यादा उम्र के लाेगाें काे ज्यादा सावधान हाेने की जरुरत है।

किस सावधानी की जरूरत: पाॅजिटिव के संपर्क में न आएं, लक्षण दिखते ही जांच कराएं
राेग प्रतिराेधक क्षमता बढ़ाने के लिए पाेष्टिक भाेजन करना चाहिए। जरुरी है कि पाॅजिटिव के संपर्क में न आए। यदि आइसाेलेशन में रहने के दाैरान निगेटिव व्यक्ति पाॅजिटिव के साथ रहता है ताे उसे ज्यादा सावधानी रहने की जरुरत है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें