चित्तौड़गढ़- अजमेर हाईवे पर ट्रक ड्राइवर से मारपीट- VIDEO:डीटीओ ​​​​​​​ बोले, चालान बनाया तो भागने लगा, पीछा कर रोका

भीलवाड़ा19 दिन पहले
ट्रक ड्राइवर से मारपीट करते आरटीओ कर्मचारी।

भीलवाड़ा से गुजर रहे चित्तौड़गढ़- अजमेर हाईवे पर आरटीओ दल ने ट्रक ड्राइवर से मारपीट का मामला सामने आया है। इसका वीडियो भी सामने आया है। मारपीट में ट्रक डाइवर घायल हो गया। इस संबंध में ड्राइवर ने पुर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई है।

ट्रक ड्राइवर नोखा के कांकड़ा के रहने वाले मांगीलाल विश्नोई ने बताया कि वह अपने ट्रक में माल भरकर चितौड़गढ़ से हरियाणा जा रहा था। रविवार दोपहर पुर बाइपास पुलिया के पास आरटीओ की ओर से चेकिंग की जा रही थी। टीम ने उन्हें रूकने का इशारा नहीं किया। इससे वह ट्रक लेकर आगे निकल गया। इसके बाद आरटीओ टीम ने पीछा करते हुए करीब आधा किलोमीटर दूर जाकर ट्रक को रूकवाया और मारपीट करना शुरू कर दिया। उनसे अन्य ड्राइवरों से मदद मांगने के लिए ट्रक को हाईवे के बीच में लगा दिया। जिससे जाम लग गया। इसके बाद पुर पुलिस मौके पर पहुंची और उसे थाने ले गई।

ट्रक को रोकने के दौरान चेहरा छिपा देते है कर्मचारी
ट्रक को रोकने के दौरान चेहरा छिपा देते है कर्मचारी

चालान बनाकर पर भागने लगा
डीटीओ रामकृष्ण चौधरी ने बताया कि रविवार को इंस्पेक्टर सुरेश कुमार जांगिड के साथ टीम ने एक ट्रक को हजारी खेड़ा में रुकवाया था। जब ट्रक की जांच की तो उसकी नम्बर प्लेट पर पन्नी लगी होने से गलत नंबर की आशंका हुई। टीम ने ट्रक का चालान बना दिया। इस पर ड्राइवर ट्रक लेकर भागने लगा। उसे पीछा कर रुकवाया तो उसने ट्रक को हाईवे पर आड़ा खड़ा कर दिया। जिससे हाईवे पर जाम लग गया। और टीम का वीडियो बनाने लगा। इसके बाद टीम ने पुर पुलिस को सूचना दी। और पुलिस ने मौके पर पहुंच हाईवे से जाम खुलवाया। ड्राइवर से मारपीट का आरोप गलत है।

पहले भी सामने आ चुके है अवैध वसूली के मामले
जानकारी है कि इससे पहले भी हजारी खेड़ा में खड़े रहने वाले आरटीओ दल पर ट्रक ड्राइवरों से अवैध वसूली के आरोप लग चुके है। और कई बार यहां हादसे भी हो चुके है। जिनमें कई लोगों की जान जा चुकी है।