पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सख्त पाबंदी:बेवजह घूमने पर क्वारेंटाइन सेंटर भेजा तो आई घर की याद...बोले- हमने गलती की, अाप मत करना

भीलवाड़ा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्वारेंटाइन सेंटर गए लोगों की सभी से अपील इस कैद से घर अच्छा

ये खबर उन लाेगाें के लिए बेहद जरूरी है, जाे कोरोना चेन तोड़ने के लिए लगाई सख्त पाबंदी में भी बिना काम घूम रहे हैं। साेमवार दिन में टाइम पास करने निकले 64 युवकाें काे पुलिस ने पकड़कर संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर भेजा। इनमें से 25 के सैंपल लेकर जांच कराई। चौंकाने वाला तथ्य ये है कि इनमें सात काेराेना पाॅजिटिव निकले। मतलब, ये लाेग शहर में घूमकर काेराेना के सुपर स्प्रेडर बने हुए थे। इनकाे प्रशासन ने आटूण आवासीय विद्यालय में बनाए सेंटर में रखा हुआहै। हालांकि कुछ युवकाें ने शिकायत दर्ज कराई कि उन्हें न समय पर खाना नसीब हुआ और न चाय पिलाई। इसका वीडियाे जारी किया। जानकारों का कहना है कि यह उनके लिए सबक है जाे बिना काम शहर में घूम रहे हैं। इधर, तहसीलदार लालाराम यादव का कहना है कि 25 सैंपल में से 7 पाॅजीटिव मिले हैं। इन्हें छोड़कर होम क्वारेंटाइन कर दिया है। अन्य के सैंपल भी लिए जा रहे हैं। अव्यवस्था जैसा कुछ नहीं है। बस अधिक व्यक्ति आने से इंतजाम करने में थोड़ा समय लगा। इसलिए घर में रहें, सुरक्षित रहें। क्योंकि बाहर घूमेंगे तो कार्रवाई की जाएगी।

वायरल वीडियो में आरोप भी: खाना, बिस्तर और पंखे नहीं अाटूण क्वारेंटाइन सेंटर का जाे वीडियाे साेशल मीडिया पर वायरल है, इसमें युवक वहां की जानकारी दे रहा है। इसमें खाना नहीं मिलने व चाय समय पर नहीं आने शिकायत की है। इसमें कहा कि हमें शाैचालयाें का पानी पीना पड़ रहा है। खाने की किल्लत का सामना तो करना ही पड़ा साथ ही बिना बिस्तर के रात गुजारनी पड़ी। पूरी रात मच्छर काटते रहे। कुछ जनाें के लिए घर से खाना आया लेकिन अंदर नहीं आने दिया। इन अव्यवस्थाओं का आलम नहीं बता रहे बल्कि लोगों को सजग घर रखने के लिए ताकि ऐसी स्थितियों का सामना दूसराें काे नहीं करना पड़ेगा।

क्वारेंटाइन सेंटर से : मैंने गलती कर दी, आप नहीं करें...वरना ऐसा भी हो सकता है
पुर निवासी 18 साल के संतोष ने बताया कि फोटोग्राफी का पेमेंट लेने गया था। पुर के बाइपास पर पुलिस ने पकड़ लिया। सुबह 10 बजे पकड़ा। एक दो घंटे थाने में बिठाया। फिर वहां से आटूण स्थित आवासीय विद्यालय में एक बजे के आसपास पहुंचा दिया। फिर सैंपल लिए। रात को क्वारेंटाइन युवकों को एक दो बजे तक रोटी नसीब नहीं हुई। सुबह चाय भी नहीं दी। दोपहर 2 बजे जाकर रोटी दी। फिर रिपोर्ट आने के बाद छोड़ दिया। इसलिए मेरा यहीं संदेश है कि बिना वजह बाहर नहीं निकले। क्योंकि कोरोना की चेन तोड़नी है तो घर में रहना होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें