पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Why Did The Policemen On Lease In Kettari Bring The Balle ins From The Mineral Department, They Themselves Will Die… We Will Also Get Them Killed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीईसी काे मिले अवैध बजरी खनन के संकेत:काेटड़ी में लीज पर दाे पुलिसकर्मी खनिज विभाग वालों से बाेले-इनकाे क्यों लाए, खुद ताे मराेगे...हमें भी मरवाओगे

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुप्रीम काेर्ट की केंद्रीय विशेषाधिकार प्राप्त समिति ने किया बजरी खनन क्षेत्रों का दौरा

सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित केंद्रीय विशेषाधिकार प्राप्त समिति (सीईसी) ने शुक्रवार को बनास व कोठारी नदी का अलग-अलग जगह दौरा कर बजरी खनन क्षेत्रों का अवलोकन किया। सूत्राें के अनुसार कमेटी काे अलग-अलग जगह दाैरे के दाैरान प्रारंभिक रूप से बजरी के अवैध खनन के संकेत मिले हैं। इसे लेकर सीईसी के अधिकारियाें ने जिले के उच्च अधिकारियाें के समक्ष नाराजगी भी जताई। हद ताे तब हाे गई जब काेटड़ी क्षेत्र में बजरी की एक खातेदारी जमीन की लीज के निरीक्षण के समय दाे पुलिसकर्मी खनिज विभाग के कुछ अधिकारियाें काे एक तरफ ले गए और उनसे कहा कि सीईसी वालाें काे यहां क्याें लेकर आए। खुद ताे मराेगे, हमें भी मरवाओगे।

यह बात सुन एक पुलिस अधिकारी अपनी हंसी नहीं राेक पाईं। कमेटी में चेयरमेन पीवी जयाकृष्णनन के नेतृत्व में सदस्य सचिव अमरनाथ शेट्टी और सदस्य महेंद्र व्यास ने दौरा किया। इस दाैरान कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते, एसपी प्रीति चंद्रा, एडीएम सिटी रिछपाल सिंह बुरड़क, एएसपी गजेंद्र सिंह, जिला परिषद एसीईओ एनके राजोरा, खनि अभियंता आसिफ अंसारी आदि अधिकारी माैजूद रहे। कमेटी ने अपने दौरे की शुरुआत सियाणा से की। यहां उन्होंने बनास नदीं के पेटे का अवलोकन किया। इसके बाद कमेटी ने कोठारी नदी में धूल खेड़ा, पीथास और बागौर के विभिन्न स्थानों का दौरा किया। दोपहर के बाद कमेटी पीपली बजरी खनन क्षेत्र का अवलोकन करने पहुंची। इसके बाद जीवा का खेड़ा व नाहरगढ़ में बनास के पेटे का अवलोकन किया।

साकरिया खेड़ा में चरागाह और खेतों काे निगल गए अवैध गारनेट के ढेर

कोटड़ी | क्षेत्र में टास्क फाेर्स की कार्रवाई के बावजूद खनन माफिया किस तरह बेखाैफ है, यह सिदड़ियास पंचायत के साकरिया खेड़ा गांव में देख सकते हैं। नदी के किनारे की सैकड़ों बीघा सरकारी जमीन पर लाखों टन बजरी मिक्स गारनेट के ढेर लगे इसकी बानगी है। ये ढेर चरागाह व बिलानाम भूमि को निगल चुके हैं। गारनेट के क्रेशर लगे हुए भी इन टीमाें काे नजर नहीं आते। खनन विभाग की टीम ने दाे दिन पहले साकरिया खेड़ा में दबिश देकर मिठूलाल गुर्जर के प्लांट पर कार्रवाई की। वहां से 30 टन बजरी मिक्स गारनेट, एक जेसीबी व सेपरेटर जब्त किया था। ग्रामीणों का आरोप है कि आसपास दर्जनाें अवैध प्लांट और लगे हुए हैं।

जिन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। टीम कभी कभार आती है जो छोटे प्लांट पर दबिश देकर कुछ वाहन व थोड़ी मात्रा में बजरी मिक्स गारनेट जब्त कर लेती है। पटवारी रेखा कंवर राजपूत ने बताया कि सरकारी भूमि पर अवैध बजरी के ढेर लगने की जानकारी नहीं है। वहीं सचिव ललित काबरा का कहना है कि मामले को देखता हूं। जबकि खान विभाग के फाेरमेन ललितसिंह के अनुसार एक अवैध प्लांट मालिक के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दी है।

जीवा का खेड़ा, नाहरगढ़, श्रीपुरा में एंपावर्ड कमेटी ने अवैध खनन की हकीकत देखी

सवाईपुर | केंद्रीय कमेटी ने शुक्रवार को कोटड़ी उपखंड में बनास नदी में बजरी के दाेहन की जानकारी ली। जीवा खेड़ा, नाहरगढ़, श्रीपुरा आदि स्थानों पर खनन की हकीकत जानी। कमेटी के पीवी जयाकृष्णन, अमरनाथ सेठी व महेंद्र व्यास के साथ कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते, एसपी प्रीति चंद्रा सहित कई अधिकारियों का दल शुक्रवार दोपहर बाद जीवा खेड़ा पहुंचा। दल के सदस्य नदी पेटे तक गए। यहां से नाहरगढ़ व श्रीपुरा में भी खनन के हालात देखे।

मांडलगढ़ | सुप्रीम कोर्ट की केंद्रीय कमेटी ने मांडलगढ़ क्षेत्र में शुक्रवार काे खनन का जायजा लिया। सुप्रीम काेर्ट के आदेश के बावजूद क्षेत्र में बजरी का अवैध खनन व परिवहन नहीं रुका। हर दिन मुख्य सड़काें व गुप्त रास्ताें से हाेते हुए हजाराें टन बजरी मध्यप्रदेश तक जाती है। इसकी शिकायत पर सेंटर एम्पावर्ड कमेटी जांच करने पहुंची। कमेटी अध्यक्ष पीवी जयाकृष्णानंद, सचिव अमरनाथ सेठी व सदस्य महेंद्र व्यास यह रिपाेर्ट सुप्रीम कोर्ट में पेश करेंगे। बीगोद, काछोला, त्रिवेणी आदि जगह टीम पहुंची तब अवैध बजरी के ढेर लगे थे।

इन दाे उदाहरणाें से समझिए कि जिले में बजरी के अवैध खनन की क्या स्थिति है

पहला : हकीकत नहीं दिखावाेगे ताे सेटेलाइट इमेज में सब कुछ दिखता है...कमेटी ने एक जगह अधिकारियाें से कहा कि हमकाे भी दिख रहा है कि यहां क्या हाे रहा है। राेड के किनारे वाली जगह दिखाकर माैके पर नहीं ले जावागे ताे सेटेलाइट से देख लेंगे कि माैके पर क्या है।

दूसरा : लीज ताे बहाना है, बजरी ताे नदी से निकल रही है...काेटड़ी क्षेत्र की एक बजरी लीज के निरीक्षण के समय कमेटी ने कहा कि यह लीज किसने जारी की। उसका पूरा रिकाॅर्ड मांगने के साथ ही उन्हाेंने नाराजगी जाहिर की। उन्हाेंने कहा कि लीजाें की आड़ में नदियाें काे खाेखला किया जा रहा है। बजरी ताे नदी से निकाल रहे हैं। एक लीज के यह हालात है ताे बाकी की स्थिति क्या हाेगी। यह हम समझ सकते हैं। जिले में खातेदारी जमीन में चार लीज अधिकृत हैं।

कमेटी आज टोंक दौरे पर

काेटड़ी क्षेत्र के गेता पारोली गांव में खातेदारी भूमि में लीज होल्डर कान सिंह का लीज एरिया देखा। हाल ही में विशेष अभियान के तहत ज़ब्त की गई अवैध बजरी का स्टॉक भी कमेटी ने देखा। कलेक्टर नकाते ने अवैध बजरी खनन पर की गई कार्रवाई की विस्तृत जानकारी कमेटी को दी। कमेटी शनिवार को टोंक दौरे पर रहेगी।

कमेटी की रिपाेर्ट पर बढ़ेगी जिले के अधिकारियाें की मुश्किल...सीईसी की रिपाेर्ट के आधार पर जिले के कई अधिकारियाें की मुश्किलें बढ़ सकती है। इनमें विशेषकर खनिज और पुलिस विभाग शामिल हैं। कमेटी अपनी रिपाेर्ट सुप्रीम काेर्ट काे साैंपेगी। इसके बाद काेर्ट इस आधार पर आगे का निर्णय सुनाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें