समझाइश कर मामलों का निस्तारण:राष्ट्रीय लोक अदालत में 1318 प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण, 1 करोड़ से ज्यादा के अवार्ड पारित

शाहपुरा (भीलवाड़ा)13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, भीलवाडा के निर्देशानुसार शनिवार को 3 बेंचों का गठन किया जाकर लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमे मोटर यान दुर्घटना दावा अधिकरण, दाण्डिक शमनीय अपराध, सिविल प्रकरण,एन0आईए0 एक्ट प्रकरण एंव बैंक, बिजली विभाग के प्री-लिटीगेशन के प्रकरणो के साथ राजस्व के प्रकरणो का भी निस्तारण किया गया।

प्रकरणों का किया निस्तारण
बेंच प्रथम में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश सुनील कुमार ओझा की अध्यक्षता में कुल 52 लंबित और प्रिलिटिगेशन प्रकरणों का आपसी सहमति से निस्तारण किया। इस दौरान 1 करोड़ 13 लाख 40 हज़ार के अवार्ड पारित किए। बेंच द्वितीय में एसडीओ कोर्ट शाहपुरा, तहसील शाहपुरा तथा एसडीओ कोर्ट फूलियाकलां और तहसील फूलियाकलां के राजस्व प्रकरणो के निस्तारण हेतु अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजेश कुमार मीणा की तहसीलदार नारायणलाल जीनगर द्वारा 472 लंबित व 672 प्रिलिटिगेशन प्रकरणो का निस्तारण किया गया। इसके अलावा बेंच तृतीय में न्यायिक मजिस्ट्रेट मोनिका धानोल की अध्यक्षता मे 122 प्रकरणो का राजीनामे से निस्तारण किया गया।

पति और पत्नी के बीच कराई समझाइश
लोक अदालत में अपर ज़िला न्यायालय शाहपुरा के एक पारिवारिक प्रकरण में एडीजे औझा द्वारा पति-पत्नी के बीच समझाइश कराई गई। प्रहलाद कुमार वैष्णव व लीला देवी वैष्णव दोनों निवासी पनोतिया,फूलियाकलां के आपसी मनमुटाव के कारण काफी समय से अलग रह रहे थे। जिनके बीच लोक अदालत में समझाइश कराई गई तथा दोनों ने साथ-साथ रहने का वादा किया। इस दौरान न्यायाधीशगण के अतिरिक्त लोक अदालत सदस्य दिनेशचन्द्र व्यास, लक्ष्यराज रैबारी, त्रिलोक चंद नवलखा, दुर्गालाल राजोरा,कैलाश सुवालका, आशीष पालीवाल योगेन्द्र सिंह भाटी,अनिल शर्मा एवं बैंकों के प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...