10 दिवसीय रामलीला का आयोजन:विधायक कैलाश मेघवाल ने देखा मंचन, बोले- लुप्त होती परंपराओं का संवर्धन जरूरी

शाहपुरा (भीलवाड़ा)6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शाहपुरा के महलों के चौक में वाराणसी के धर्म प्रचारक रामलीला मंडल तथा नगरपालिका मंडल के सहयोग से 10 दिवसीय रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। रामलीला के छठे दिन विधायक कैलाश मेघवाल रामलीला मंचन देखने के लिए आए।

मंडल के संयोजक पंडित राघवेंद्र शर्मा, आयोजन समिति के अनुज कांटिया, महावीर मीणा, राहुल शर्मा द्वारा विधायक मेघवाल को मेवाड़ी पगड़ी पहनाकर तथा श्री रामचरितमानस की पुस्तक प्रति भेंट करके स्वागत किया गया। इस दौरान उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए विधायक मेघवाल ने कहा कि वर्तमान परिवेश में रामलीला का मंचन बहुत जरूरी है। ऐसे धार्मिक आयोजनों से आने वाली पीढ़ी को प्रभु श्री राम के चरित्र को जानने का अवसर मिलेगा। श्री राम के चरित्र से धर्म परायणता तथा मर्यादा की सीख मिलती है। श्री रामलीला मंचन की कला अब धीरे-धीरे दुर्लभ होती जा रही है। इनके संवर्धन के प्रयास राजकीय स्तर पर भी आवश्यक है। जिससे हजारों वर्ष पुरानी यह परंपरा अनवरत जारी रहे।

इस दौरान पालिका अध्यक्ष रघुनंदन सोनी, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष राजेश पारीक, भाजपा जिला महामंत्री तारा चास्टा, पार्षद राजेश सोलंकी, युवराज सिंह, प्रवीण सुखवाल, लादू लाल खटीक सहित कई लोग मौजूद रहे। रामलीला के छठे दिन सूर्पनखा तथा श्री राम संवाद, सूर्पनखा की नाक काटना, रावण द्वारा भिक्षा मांगने आना, माता सीता का हरण तथा श्रीराम के विलाप का मंचन किया गया। कथा के सातवें दिन हनुमान जी का श्री राम से मिलन, सुग्रीव से मित्रता का मंचन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...