पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मानसून मीटर:अभी सामान्य से 2% ज्यादा, 7 दिन अच्छी बारिश नहीं हुई तो माइनस में जाएंगे

बीकानेर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौसम वाणी-चार दिन तेज बारिश के आसार नहीं - Dainik Bhaskar
मौसम वाणी-चार दिन तेज बारिश के आसार नहीं

प्रदेश में बीकानेर समेत पांच जिले ही ऐसे हैं जाे मानसून की बारिश के लिहाज से लगभग बराबर पर हैं। शेष 29 जिले बारिश के आंकड़ाें में पिछड़ रहे हैं। लेकिन बीकानेर में एक सप्ताह और बारिश नहीं हुई ताे ये भी क्रिटिकल कंडीशन वाले जिलाें में शुमार हाे जाएगा। एक जून से 16 जुलाई तक बीकानेर में औसत 95 मिमी एमएम बारिश की तुलना में 97 एमएम बारिश हाे चुकी है।

यानी सामान्य से दाे प्रतिशत ज्यादा। चूरू भी एक प्रतिशत बारिश में आगे है, लेकिन हनुमानगढ़ 38 प्रतिशत पीछे चल रहा है। श्रीगंगानगर भी 9.5 प्रतिशत पीछे है। बीकानेर जिले की तहसीलाें की बात करें ताे पूगल में सबसे ज्यादा 141 एमएम बारिश हाे चुकी है। बारिश में श्रीडूंगरगढ़ तहसील सबसे पीछे 40 मिमी ही बारिश ले पाया।

पूगल और काेलायत में जितनी बारिश हुई उतनी चार तहसीलाें काे मिलाकर बारिश नहीं हुई। फिलहाल मानसून एक्टिव है लेकिन मूसलाधार बारिश के जाेग कम हैं। वजह, मानसून पूूर्वी राजस्थान में मेहरबान है, जहां आठ-आठ इंच बारिश हाे रही है। बीकानेर में फिलहाल तीन से चार दिन बादल छाए रहेंगे।

दिनभर बादल, बारिश की बूंद नहीं

मंगलवार काे दिनभर बादल छाए रहे। दिन में धूप कुछ ही देर काे निकली। दाेपहर बाद ताे बिलकुल नहीं। बावजूद इसके आसमान से बारिश की बूंद नहीं गिरी। सिर्फ उमस और गर्मी से राहत जरूर मिली। बीकानेर में अभी तक मानसून की सबसे बड़ी बारिश 12.3 मिमी हुई है। इसलिए लाेगाें काे एक मूसलाधार बारिश का इंतजार है। हालांकि तापमान जरूर नियंत्रित हाे गया है। मंगलवार काे न्यूनतम तापमान 28.9 डिग्री रहा। अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

खबरें और भी हैं...