पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर पड़ताल:वन विभाग में 4 साल पहले रू. 102 लाख का गबन, 2 साल में जांच...3 अफसर निलंबित

बीकानेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाैधराेपण के लिए स्वीकृत हुई थी राशि, गड़बड़ी करने वालाें पर होगा केस
Advertisement
Advertisement

चार साल पहले वन मंडल की बीकानेर रेंज (उत्तर) कानासर में पाैधराेपण और दूसरे कामाें के लिए स्वीकृत 102 लाख रुपए में गबन किया गया। लंबे समय से अटकी जांच अब पूरी हुई, जिसमें प्राथमिक ताैर पर दाेषी पाए जाने वाले तीन अधिकारियाें काे निलंबित कर दिया गया। अब आराेपियाें के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

2015-16 में वन मंडल की बीकानेर रेंज के कानासर में पाेधराेपण और दूसरे कामाें के लिए 102.53 लाख रुपए स्वीकृत किए गए थे। इस राशि के भुगतान व अन्य कार्याें की जांच की गई ताे गबन हाेना पाया गया। संयुक्त परियाेजना निदेशक (प्रशासन) और संभागीय मुख्य वन संरक्षक बीकानेर की जांच में फर्जी भुगतान और फर्जी बिल पेश करने पर तत्कालीन सहायक वन संरक्षक बीकानेर मदनसिंह चारण, क्षेत्रीय वन अधिकारी बीकानेर (उत्तर) हाल क्षेत्रीय वन अधिकारी रेंज बेरियावाली मनरूपसिंह, तत्कालीन वनपाल हाल क्षेत्रीय वन अधिकारी बिरधवाल श्यामद्दीन भुट्टाे, वन सुरक्षा समिति कानासर के अध्यक्ष पूनमसिंह व काेषाध्यक्ष भीमराज काे जिम्मेदार माना गया है।

उसके बाद राजस्थान के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (हाॅफ) जीवी रेड्डी ने श्यामद्दीन, मनरूपसिंह और तत्कालीन कैशियर हाल प्रशासनिक अधिकारी कुलदीप बारूपाल काे निलंबित कर दिया है। तीनाें का मुख्यालय उप वन संरक्षक चूरू किया गया है। इसके अलावा आराेपियाें के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने का भी निर्णय लिया गया है।

दिसंबर, 2018 से चला जांच का खेल
मामलें में विभागीय जांच का खेल दिसंबर, 18 से चला जाे अब पूरा हुआ है। शुरू में गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर संयुक्त परियाेजना निदेशक (प्रशासन) काे जांच साैंपी गई थी। उन्हाेंने अपनी जांच पूरी परियाेजना निदेशक काे साैंप दी ताे उन्हाेंने 28 जनवरी, 19 काे प्रधान मुख्य वन संरक्षक काे रिपाेर्ट के साथ ही पत्र लिखकर उच्च अधिकारी से विस्तृत जांच करवाने का आग्रह किया। जबकि, जांच अधिकारी पहले ही अपनी रिपाेर्ट में गंभीर अनियमितताओं के बारे में स्पष्ट कर चुके थे। इसके बावजूद एक फरवरी, 19 काे सीसीएफ बीकानेर काे दुबारा जांच साैंपी गई थी।

...और ऐसे हरियाली में गबन
जांच रिपाेर्ट में सामने आया है कि 102.53 लाख रुपए की राशि समय-समय पर गैंग लीडर्स काे चेक या डीडी और सीधे बैंक ट्रांसफर से भुगतान की बजाय वनपाल श्यामद्दीन ने सीधे अपने नाम पर प्राप्त की, जाे वित्तीय अनियमितता है। गैंग लीडर्स काे भुगतान कैश किया गया। जान-बूझकर विभाग के दिशा-निर्देशाें की अवहेलना की गई। यह भी सामने अाया है कि बकाया भुगतान संबंधी बनाए गए बिलाें पर हस्ताक्षर फर्जी हैं। मतलब भुगतान में फर्जीवाड़ा और सरकारी राशि में गबन किया गया।

मुझे मामले की जांच करने के लिए कहा गया था। पूरी छानबीन अाैर संबंधित पक्षाें के बयान लेने के बाद जांच पूरी कर रिपाेर्ट प्रधान मुख्य वन संरक्षक काे भेज दी गई है। - महेन्द्र अग्रवाल, संभागीय मुख्य वन संरक्षक, बीकानेर

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement