पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीकाकरण अभियान:पांच दिन बाद आई 14830 डोज, बीकानेर शहर के 18 बूथ पर सैकंड डोज ही लगेगी, बुकिंग ऑनलाइन होगी

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले वैक्सीनेशन सेशन की तरह भीड़-हंगामा न हो जाए इसलिए सैकंड डोज भी ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन के आधार पर लगेगी। - Dainik Bhaskar
पिछले वैक्सीनेशन सेशन की तरह भीड़-हंगामा न हो जाए इसलिए सैकंड डोज भी ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन के आधार पर लगेगी।
  • शहर में 5120 डोज में से 4710 सैकंड डोज लगेगी, 410 फर्स्ट डोज वैक्सीन ऑन व्हील-वर्क प्लेस सेशन के लिए

बीकानेर में पांच दिन बाद महज 14830 डोज वैक्सीन आई है। यह मात्रा कितनी कम है इसका अनुमान इसीसे लगाया जा सकता है कि बीकानेर शहर के सिर्फ 18 बूथों पर ही वैक्सीनेशन होगा। इन बूथों पर भी महज सैकंड डोज ही लगाई जाएगी। पिछले वैक्सीनेशन सेशन की तरह भीड़-हंगामा न हो जाए इसलिए सैकंड डोज भी ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन के आधार पर लगेगी।

इसके लिए बुधवार रात को वैक्सीनेशन स्लॉट खोले गए। शहर में सिर्फ 5120 टीके ही लगाए जाएंगे। इससे इतर गांवों के 50 केन्द्रों पर लगभग 10 हजार डोज लगाई जाएगी। वहां ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा रहेगी लेकिन वहां भी 26 बूथों पर सिर्फ सैकंड डोज ही लगेगी।

जिले को मिली 14830 डोज को इसलिए ऊंट के मुंह में जीरा मान सकते हैं क्योंकि बीकानेर में अब तक 9.95 लाख कुल टीके ही लगे हैं जबकि 16 लाख आबादी वैक्सीनेशन की पात्र है। इसमें भी सैकंड डोज अब तक 1.93 लाख लग पाई है।

जुलाई के पहले सप्ताह में एक लाख से ज्यादा लोगों की सैकंड डोज ड्यू हो चुकी है। इससे पहले तीन जुलाई को जब 20 हजार टीके ही मिले थे जो शहर के लगभग हर बूथ पर भीड़ उमड़ पड़ी थी। धक्का-मुक्की हुई। वैक्सीन ऑन व्हील के आगे लोग लेट गए। पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा था। ऐसे में अब दूध का जला प्रशासन छाछ भी फूंक-फूंककर पीने की तर्ज पर फर्स्ट डोज वालों को अभी बूथ पर नहीं बुला रहा है। सैकंड डोज वाले उन्हीं लोगों को कतार में रखा जाएगा जिनका ऑनलाइन स्लॉट बुक हो गया।

इतने टीके आए- लगे

  • 995360 कुल डोज अब तक लगी
  • 801401 को पहला टीका
  • 1594222 हैं टीका लगाने के पात्र
  • 193959 को ही लगी दूसरी डोज

शहर के इन बूथ पर आज लगाई जाएगी सैकंड डोज

सिटी डिस्पेंसरी संख्या एक से सात तक सभी सातों, मुरलीधर व्यास कॉलोनी, तिलक नगर, फोर्ट डिस्पेंसरी, मुक्ताप्रसाद, रामपुरा, डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, गंगाशहर सेटेलाइट, पीबीएम हॉस्पिटल के चार सेंटर।

खबरें और भी हैं...