किताबों की कमी:हिंदी से इंग्लिश मीडियम बने 3 स्कूलों के 765 स्टूडेंट्स को नहीं मिली बुक्स

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंदी से इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट किए गए राज्य के तीन स्कूलों में एडमिशन लेने वाले 765 स्टूडेंट्स को बिना किताबों के ही सेकंड टेस्ट देने पड़े हैं। - Dainik Bhaskar
हिंदी से इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट किए गए राज्य के तीन स्कूलों में एडमिशन लेने वाले 765 स्टूडेंट्स को बिना किताबों के ही सेकंड टेस्ट देने पड़े हैं।

शिक्षा सत्र के बीच में हिंदी से इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट किए गए राज्य के तीन स्कूलों में एडमिशन लेने वाले 765 स्टूडेंट्स को बिना किताबों के ही सेकंड टेस्ट देने पड़े हैं। बीकानेर के गवर्नमेंट सूरसागर इंग्लिश मीडियम स्कूल सहित वल्लभनगर उदयपुर और राजा रामदेव पोद्दार जयपुर के स्कूल को सितंबर में ही इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट किया गया है।

बीच सत्र में इन स्कूलों के कन्वर्ट होने से पिछले माह अक्टूबर में हुए सेकंड टेस्ट पहली से आठवीं कक्षा के स्टूडेंट्स को बिना किताबों के ही देने पड़े। स्टूडेंट्स को किताबें अभी तक नहीं मिली है। अब पेरेंट्स को दिसंबर में होने वाली अर्द्ववार्षिक परीक्षा की टेंशन शुरू हो गई है। पेरेंट्स का कहना है कि कोरोना के कारण पिछले डेढ़ साल से बच्चे घर पर ही पढ़ रहे थे।

जिसके कारण पढ़ाई पर पूरा फोकस नहीं हो पाया। अब दीपावली की छुट्टियां हो चुकी है। यदि पुस्तके होती तो छुट्टियों में बच्चों को कुछ पढ़ाई करवाई जा सकती थी। लेकिन पुस्तके ना तो बाजार में उपलब्ध है और ना ही स्कूल की ओर से दी जा रही है।

दरअसल, स्कूल खुलते ही नामांकन के आधार पर पाठ्य पुस्तक मंडल को किताबों की डिमांड भेजी जाती है। यह तीनों स्कूल शिक्षा सत्र के बीच में सितंबर में कन्वर्ट हुए हैं। इनमें पिछले माह 4 अक्टूबर को ही एडमिशन का प्रोसेस पूरा हुआ है। इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पुस्तकों के लिए डिमांड अब भेजी गई है अधिकारियों का कहना है कि अगले सप्ताह तक किताबें पहुंच जाएगी।

प्रदेश के 208 इंग्लिश मीडियम स्कूलों में 85 हजार स्टूडेंट्स
सूरसागर बीकानेर, वल्लभनगर उदयपुर, पोद्दार जयपुर के इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट होने से राजस्थान में गवर्नमेंट इंग्लिश मीडियम स्कूलों की संख्या 208 हो चुकी है। इनमें 201 महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल और 7 गवर्नमेंट अंग्रेजी मीडियम स्कूल शामिल है। जिनमें करीब 85 हजार स्टूडेंट्स पढ़ रहे हैं।

  • सूरसागर स्कूल को सितंबर में इंग्लिश मीडियम में कन्वर्ट किया गया है। पुस्तकों की डिमांड भिजवा दी गई है। जल्द ही बच्चों को पुस्तके मिल जाएगी। -राजकुमार शर्मा, सीडीईओ माध्यमिक, बीकानेर
  • इंग्लिश मीडियम स्कूलों के नाम पर सरकार केवल वाहवाही लूट रही है। जिला मुख्यालय पर संचालित महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूलों में भी नामांकन के मुताबिक किताबें नहीं पहुंची है। पुरानी किताबों से ही बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। -रवि आचार्य, प्रदेश अतिरिक्त महामंत्री, शिक्षक संघ राष्ट्रीय
खबरें और भी हैं...