• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • After Buying The Slippers, He Threw Away The Slippers Instead Of Copying Them, Some Did Not Come To The Exam Center, Now It Is Difficult To Act On Them.

चप्पल से नकल का मामला:अभ्यर्थियों ने नकल करने के बजाय चप्पल को ही फैंक दिया, कुछ तो एग्जाम सेंटर पर ही नहीं आए; इन पर अब कार्रवाई मुश्किल

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गंगाशहर थाने में गिरफ्तार चार युवक। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
गंगाशहर थाने में गिरफ्तार चार युवक। (फाइल फोटो)

REET की परीक्षा में चप्पल से नकल करने की तैयारी में वैसे तो 25 स्टूडेंट्स थे। लेकिन इनमें से करीब 10 स्टूडेंट्स को एग्जाम से ठीक पहले अक्ल आ गई। अब तक की जांच में पता चला है कि करीब दस स्टूडेंट्स या तो वो चप्पल पहनकर नहीं गए या एग्जाम देने ही नहीं गए। ऐसे में पुलिस इन पर कार्रवाई भी नहीं कर पा रही है। क्योंकि नकल हुई ही नहीं।

दरअसल, पुलिस को परीक्षा से एक दिन पहले 25 सितम्बर को ही अहसास हो गया कि ऐसा गिरोह काम कर रहा है। पुलिस ने धरपकड़ कर कुछ युवाओं को गिरफ्तार कर लिया। ये बात लीक नहीं हो, इसका पूरा प्रयास किया गया, लेकिन नकल गैंग के सरगना तुलसीराम कालेर को इसकी भनक लग गई। आशंका जताई जा रही है कि उसने कुछ स्टूडेंट्स को फोन करके ये सूचना कर दी कि वो परीक्षा में नहीं जाएं या फिर चप्पल चैंज कर लें। अगले दिन पुलिस ने जब हिरासत में लिए गए युवकों को गिरफ्तार किया तो ये खबर सब तरफ फैल गई। ऐसे में दूसरी पारी में परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स गायब हो गए।

नाम है, पर कार्रवाई मुश्किल

जो स्टूडेंट्स चप्पल लेने के बाद एग्जाम सेंटर नहीं आये या फिर आये तो वो चप्पल पहनकर नहीं आये, उन पर कार्रवाई कर पाना अब पुलिस के लिए मुश्किल हो रहा है। दरअसल, नकल के लिए बने कानून में नकल सामग्री का उपयोग करने पर ही कार्रवाई हो सकती है। ऐसे में जिसने नकल की ही नहीं, उस पर कार्रवाई नहीं हो पा रही। पुलिस के पास इन स्टूडेंट्स के नाम भी है, लेकिन अब इनकी गिरफ्तारी करना मुश्किल हो रहा है।

सेंटर के बाहर खोल दी चप्पल

चप्पल से नकल का मामला सामने आने के बाद कई परीक्षा केंद्रों पर चप्पल बाहर ही खुलवा दी गई थी। ऐसे में जो स्टूडेंट चप्पल लेकर पहुंचे थे, उन्होंने चप्पल बाहर खोल दी। ऐसे में ब्ल्यूट्रूथ भी हटा दिया। पुलिस को इन युवकों से भी कोई सुराग नहीं मिल सका है।

तुलसाराम की तलाश

इस पूरे मामले में पुलिस तुलसाराम की तलाश में जुटी हुई है, जो इस पूरे गेम का मास्टर माइंड है। तुलसाराम की गिरफ्तारी के लिए ही मदन और त्रिलोक का पुलिस रिमांड लिया गया है। ये दोनों गैंग में तुलसाराम के सहयोगी है। ऐसे में इनसे सख्ती से पूछताछ करके पुलिस तुलसाराम तक पहुंचना चाहती है। एक टीम इस काम में जुटी हुई है। जल्द ही तुलसाराम भी पुलिस की गिरफ्त में हो सकता है।

खबरें और भी हैं...