पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब राजस्थान में मानसून की बारी:18 जून के बाद कोटा-उदयपुर के रास्ते अनलॉक होंगे बादल; कई जिलों में तेज हवा के साथ लू की चेतावनी

बीकानेर/जयपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीकानेर में तेज धूप के बीच अचानक छाए काले बादल। - Dainik Bhaskar
बीकानेर में तेज धूप के बीच अचानक छाए काले बादल।

अगर आप तेज गर्मी और गर्म हवाओं से परेशान हैं तो कुछ दिन बाद इन्हीं के दम पर आपको प्री मानसून की आहट सुनाई दे सकती है। मौसम विभाग ने राजस्थान के अधिकांश जिलों में बादल गरजने के साथ-साथ तेज हवा चलने की चेतावनी दी है। हकीकत में यह प्री मानसून की अच्छी खबर है। जिस गति से हवाएं राजस्थान की ओर बढ़ रही हैं, उससे उम्मीद है कि 18 जून के बाद कभी भी उदयपुर व कोटा की तरफ से मानसून राजस्थान में बारिश कर सकता है। संकेत है कि इस बार राज्य के हर जिले में अच्छी बारिश होगी।

मौसम विभाग के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि अगले कुछ दिन में राजस्थान में प्री मानसून की बारिश हो सकती है। पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान के साथ उत्तरी राजस्थान व हरियाणा से सटे कुछ जिलों में तेज हवा चलेगी, बादल गरजने के भी आसार हैं। इस दौरान कोई बारिश होती है तो अब उसे प्री मानसून की बारिश ही माना जाएगा। मौसम विभाग ने पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में तेज हवा के साथ लू चलने की चेतावनी दी है। खास बात यह है कि पूर्वी राजस्थान की तुलना में पश्चिमी राजस्थान में हवाओं की गति तेज होगी और अंधड़ के साथ रेगिस्तान की मिट्‌टी शहरों को पहले रेत से नहलाती नजर आएगी और फिर बारिश का सिलसिला शुरू हो सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक, 11 जून से 15 जून तक प्रदेश के अधिकांश जिलों में लू के साथ बादलों के गरज सकते हैं। यह गरजने वाले बादल, खास बरसने वाले नहीं होंगे। पूर्वी राजस्थान में अलवर, भरतपुर, बारां, बूंदी, दौसा, धौलपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, सवाई माधाेपुर, सीकर, सिरोही व टोंक जिलों में कहीं-कहीं अचानक तेज हवाएं चल सकती है। हवा की गति 30-40 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। वहीं दूसरी और पश्चिमी राजस्थान में बीकानेर, बाड़मेर, चूरू, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ व नागौर में भी पंद्रह जून तक मेघ गर्जन के साथ तेज हवाएं चलेगी। इन जिलों में पूर्वी राजस्थान की तुलना में अधिक तेज हवाएं चलेगी। यहां हवाओं की गति 40-50 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। पाली जिले में 12 व 13 जून को ही यह स्थिति रहेगी जबकि बाद में ये हालात सुधर जाएंगे।

इस बार मानसून समय पर

शर्मा का कहना है कि 20 से 25 जून के बीच मानसून राजस्थान में प्रवेश कर सकता है। अभी तक हवा का दबाव और बादलों की गति से मानसून के समय पर राजस्थान में आने की उम्मीद की जा सकती है। हालांकि इससे पहले भी कई जिलों में बारिश हो सकती है। आमतौर पर कई जिलों में प्री मानसून की बारिश होती है। पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में इस बार मानसून भी अच्छी हो सकता है।

खबरें और भी हैं...