पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • After Recovery, Four Patients Re admitted, Relief New Patients Were Not Found, Three Patients Were Undergoing Treatment In MCH And One Cancer Hospital.

ब्लैक फंगस रिटर्न्स:ठीक होने के बाद चार मरीज फिर भर्ती, राहत-नए रोगी नहीं मिले, तीन मरीजों का एमसीएच और एक का कैंसर अस्पताल में चल रहा उपचार

बीकानेर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में भले ही कमी आई हो, लेकिन ब्लैक फंगस ने अभी भी मरीजों का पीछा नहीं छोड़ा है। संभाग के सबसे बड़े पीबीएम अस्पताल में चार मरीजों की वापसी हुई है। जबकि संबंधित मरीजों को उपचार के बाद घर भेज दिया था।

कोरोना की लहर के बीच बीकानेर में कुल 157 मरीज ब्लैक फंगस के रिपोर्ट हुए थे। जिनमें से 27 मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो गई। ईएनटी के प्रोफेसर डॉ. गौरव गुप्ता के अनुसार ब्लैक फंगस के नए मरीज रिपोर्ट नहीं हो रहे हैं। जिनका उपचार चल रहा है वे दोबारा लौटे हैं।

उन्होंने बताया कि एमसीएच में तीन तथा कैंसर अस्पताल में एक ब्लैक फंगस मरीज का उपचार चल रहा है। गुप्ता के अनुसार जिन मरीजों की प्रतिरोधी क्षमता कमजोर थी, वे कोरोना के साथ-साथ ब्लैक फंगस की चपेट में भी आ गए थे।

बुजुर्ग के स्किन में फंगल इन्फेक्शन; पूरे शरीर की चमड़ी उतरने लगी
ब्लैक फंगस की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नाल बड़ी निवासी किशन लाल मेघवाल की तबीयत ठीक होने का नाम नहीं ले रही है। फंगल इन्फेक्शन के बाद साठ वर्षीय किशन लाल के शरीर की चमड़ी उतरनी शुरू हो गई है। स्थिति इतनी खराब हो चुकी है कि मरीज का ऑपरेशन करना भी संभव नहीं हो रहा है।

मरीज के पुत्र बालूराम ने सीएमएचओ को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि उनके पिता के कोरोना टीका लगाने के बाद तबीयत बिगड़ी थी। जबकि किशन लाल का उपचार करने वाले जनरल सर्जरी के सीनियर डॉक्टर दीवान जाखड़ ने बताया कि संबंधित मरीज की ब्लैक फंगस रिपोर्ट पॉजिटिव थी।

इनकी कोरोना टीका लगने के बाद सेहत बिगड़ी हो, ऐसी रिपोर्ट नहीं है। कोरोना टीका लगने के बाद अगर किसी को इन्फेक्शन होता है तो आधे घंटे में ही लक्षण सामने आने लगते हैं। बीकानेर में टीका लगाने के बाद किसी मरीज की तबीयत बिगड़ी हो ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...