स्कूली शिक्षा:राज्य के 205 महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूलों की 9वीं कक्षा में प्रवेश के लिए 16 तक आवेदन मांगे

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साक्षात्कार जिले के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में होंगे। तृतीय श्रेणी अध्यापक संबंधित जिला और सैकंड ग्रेड शिक्षक संबंधित मंडल का होना जरूरी है। - Dainik Bhaskar
साक्षात्कार जिले के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में होंगे। तृतीय श्रेणी अध्यापक संबंधित जिला और सैकंड ग्रेड शिक्षक संबंधित मंडल का होना जरूरी है।
  • रिक्त सीटों पर ही मिलेगा एडमिशन, 20 अगस्त को निकलेगी लॉटरी

राज्य के ब्लॉक व जिला स्तर पर चल रहे 205 महात्मा गांधी अंग्रेजी मीडियम स्कूलों की 9वीं कक्षा में प्रवेश का प्रोसेस शिक्षा विभाग ने शुरू कर दिया है। प्रवेश के लिए संबंधित स्कूल में 16 अगस्त तक आवेदन किए जा सकेंगे। आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को रिक्त सीटों पर प्रवेश मिलेगा। 9वीं क्लास में एनसीईआरटी का सिलेबस है। जोकि इंग्लिश मीडियम में है।

ऐसे में पहले से अंग्रेजी मीडियम स्कूल में पढ़ रहे स्टूडेंट्स को अंग्रेजी मीडियम के लिए उपयुक्त समझने पर ही संबंधित स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश के लिए विद्यार्थियों का चयन लॉटरी से किया जाएगा। लॉटरी 20 अगस्त को निकाली जाएगी।

माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने इस संबंध में समस्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक और राजकीय महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूलों के प्रधानाचार्य को दिशा निर्देश जारी किए हैं। विदित रहे कि महात्मा गांधी अंग्रेजी में स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा में प्रवेश का प्रोसेस पिछले महीने ही पूरा किया जा चुका है।

रिक्त पदों को भरने के लिए साक्षात्कार 16 अगस्त को, प्रमोशन से कई स्कूलों में रिक्त हो चुके हैं शिक्षकों के पद

राज्य के महात्मा गांधी अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए 16 अगस्त को साक्षात्कार होगा। इससे पूर्व 10 अगस्त तक खाली पदों की सूचना चस्पा की जाएगी।

संबंधित नियुक्ति अधिकारी के अनुमोदन होने के बाद 21 अगस्त को पोस्टिंग आदेश जारी होंगे। साक्षात्कार सैकंड ग्रेड शिक्षक, तृतीय श्रेणी शिक्षक, यूडीसी, एलडीसी व सहायक कर्मचारियों के पदों पर होंगे। शिक्षकों को प्रमोशन मिलने से कई स्कूलों में यह पद खाली हो चुके हैं। साक्षात्कार जिले के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में होंगे। तृतीय श्रेणी अध्यापक संबंधित जिला और सैकंड ग्रेड शिक्षक संबंधित मंडल का होना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...