बदलाव:यात्रा की तिथि में बदलाव, अब 17 की बजाय 7 नवंबर काे चलेगी भारत दर्शन ट्रेन

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देशभर में कोविड-19 का प्रभाव कम होने के बाद भारतीय रेलवे के उपक्रम इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने 12 दिन का टूर प्लान किया कर रखा था। यह यात्रा अब 12 की बजाय नाै दिन की हाेगी। ट्रेन 17 अक्टूबर की जगह अगले महीने सात नवंबर काे चलेगी, जाे महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, द्वारका, नागेश्वर, सोमनाथ मंदिर, स्टेचू ऑफ़ यूनिटी तथा साबरमती आश्रम की यात्रा 15 नवंबर काे जयपुर लाैटेगी।

इस ट्रेन में अभी तक 527 रिजर्वेशन हाे चुके हैं, जिसमें बीकानेर के 50 यात्री शामिल हैं। आईआरसीटीसी के संयुक्त महाप्रबंधक/ पर्यटन योगेंद्र सिंह गुर्जर ने बताया कि यह सात नवंबर काे पठानकोट से शुरू होकर चंडीगढ़, अम्बाला, दिल्ली के रास्ते रेवाड़ी, अलवर, जयपुर होते हुए पर्यटकों को सैर करवाकर वापस 15 नवंबर काे जयपुर लाैटेगी। ट्रेन में एसी तथा नॉन एसी दोनों तरह के काेच हैं। गाेवा नहीं जाने के चलते आईआरसीटीसी यात्रियाें काे तीन दिन का खर्च वापस लाैटाएगी।

भारत दर्शन ट्रेन में सफर के फायदे

  • ट्रेन में थ्री एसी श्रेणी/स्लीपर क्लास का कंफर्म टिकट मिलता है।
  • यात्रियों के ठहरने के लिए आवास का इंतजाम किया जाता है।
  • यात्रा के दौरान रेल के अलावा धर्मशाला तक बस ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा मिलती है।
  • ट्रेन के प्रत्येक कोच में एक सिक्योरिटी गार्ड तथा कोच मैनेजर तैनात होता है।
  • केंद्रीय कर्मचारी इस यात्रा के बदले एलटीसी क्लेम कर सकते हैं। जिसके लिए आईआरसीटीसी, यात्रा खत्म होने के बाद सर्टिफिकेट जारी करता है।
खबरें और भी हैं...