पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन राजनीति:गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का समर्थन करने पहुंचे कांग्रेस के दिग्गज नेता रामेश्वर डूडी

बीकानेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत के साथ मंच पर भाषण देते कांग्रेस नेता रामेश्वर डूडी। - Dainik Bhaskar
गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत के साथ मंच पर भाषण देते कांग्रेस नेता रामेश्वर डूडी।

गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को अब राजस्थान कांग्रेस भी पूरी शिद्दत के साथ समर्थन देने के लिए आगे आ रही है। यही कारण है कि प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रामेश्वर डूडी भी वहां समर्थकों के साथ पहुंच गए हैं, जहां उन्होंने राकेश टिकैत के साथ मंच भी साझा किया।

डूडी ने मंच से भाषण देते हुए कहा कि राजस्थान की हर ढाणी व गांव का किसान इस आंदोलन में किसानों के साथ है। पिछले दिनों चले घटनाक्रम के बाद ज्यादा मजबूती से किसान एकजुट हो रहे हैं। डूडी ने ये भी कहा कि किसान आंदोलन से जुड़े लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। देशभर के किसान अब उनके साथ खड़े हो गए हैं।

पहले हनुमान बेनीवाल के साथ गए थे

कांग्रेस नेता रामेश्वर डूडी दूसरी बार इस आंदोलन में हिस्सा लेने पहुंचे है। इससे पहले वो राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल के साथ नजर आये थे। तब बेनीवाल के साथ डूडी की मौजूदगी को नए राजनीतिक समीकरण के तौर पर देखा जा रहा था। उधर, बेनीवाल ने दो दिन पहले ही संसद में इस मुद्दे पर मांग रखी थी।

क्या है मायने

रामेश्वर डूडी के बार बार किसान आंदोलन में पहुंचने के राजनीतिक मायने हैं। माना जा रहा है कि कांग्रेस की ओर से डूडी को इस आंदोलन में सहयोग के संकेत दिए गए हैं। 26 जनवरी को ट्रेक्टर रैली के दौरान भी डूडी ने बीकानेर में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था। डूडी के बीकनेर स्थित पेट्रोल पंप पर करीब दो सौ ट्रेक्टर एकत्र हुए और एक साथ रैली में शामिल हुए। उनके पेट्रोल पंप के आगे रैली का जबर्दस्त स्वागत भी हुआ था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

और पढ़ें