पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Even After The Installation Of 41 Thousand Road Lights, The City Is Dark, The Corporation Is Preparing To Buy Six Thousand LEDs After One Year

दो करोड़ के टैंडर किए:41 हजार रोड लाइट लगने के बाद भी शहर में अंधेरा,एक साल बाद छह हजार एलईडी खरीदने की तैयारी कर रहा निगम

बीकानेर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

41 हजार रोड लाइट लगने के बाद भी शहर अंधेरे में ही रहा। नगर निगम महापौर अपने कार्यकाल में पहली बार 6 हजार 500 रोड लाइटों की खरीद करने जा रही हैं। दिवाली पर शहर को रौशन करने के लिए पूर्व और पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के उन सभी वार्डों में रोड लाइट लगेगी, जहां अंधेरा रहता है। नगर निगम ने पूर्व और पश्चिम विधानसभा में रोड लाइटों को लेकर सर्वे कराया है।

एरियावाइज सर्वे के दौरान 80 वार्डों में ऐसे काफी विद्युत पोल मिले, जहां एलईडी लाइट नहीं थी या खराब थी। हाल ही में निगम आयुक्त ने दोनों विधानसभा क्षेत्रों के लिए अलग-अलग टेंडर जारी किए हैं। पूर्व विधानसभा में साढ़े तीन हजार रोड लाइट लगाई जाएगी। इसके लिए एक करोड़ तीन लाख रुपए का टेंडर किया है, जो छह नंवबर को खुलेगा।

इसी प्रकार पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के लिए 98.76 लाख रुपए का टेंडर जारी किया है। इस क्षेत्र में तीन हजार रोड लाइटों की खरीद की जाएगी। यह टेंडर 29 अक्टूबर को खोला जाएगा। टेंडर शर्तों के तहत ठेका फर्म को तीन साल तक रोड लाइटों की मेंटीनेंस का काम भी देखना होगा। बोर्ड गठन के बाद से ही पार्षद लगातार रोड लाइटों की मांग कर रहे थे।

विदित रहे निगम के पिछले भाजपा बोर्ड के कार्यकाल में 33 हजार रोड लाइट ईईएसएल कंपनी ने लगाई थी। इस कंपनी को 2024 तक अपनी लाइटों की मेंटीनेंस करनी है। उसके अलावा आठ हजार एलईडी निगम ने अलग से खरीदी थी।

नव विकसित कॉलोनियों में अंधेरनिगम के अधिकांश एरिया में रोड लाइट है, लेकिन बंद रहने की शिकायत आम है। यूआईटी की नव विकसित कॉलोनियों में अंधेरा पसरा रहता है। उदासर और जयपुर रोड की कॉलोनियों में रोड लाइट तक नहीं है। इसी प्रकार पूगल रोड, बल्लभ गार्डन, सुदर्शनानगर, गंगाशहर, शिवबाड़ी क्षेत्र में भी रोड लाइट्स बंद रहती हैं।

निगम और यूआईटी एरिया में रोड लाइटों की मेंटीनेंस का काम ठप पड़ा है।रोड लाइटों को लेकर पार्षदों की मांग लंबे समय से चली आ रही थी। इलेक्ट्रीक विंग से सर्वे कराया था। साढ़े छह हजार लाइटें लगने के बाद अगले दो-तीन साल तक शहर में जरूरत नहीं पड़ेगी। सीसीएमएस लगाने का काम शुरू कर दिया है। रोड लाइट स्विच मैनुअली ऑन ऑफ के लिए सर्वे कराया जाएगा।
सुशीला कंवर राजपुरोहित, महापौर

मैनुअली पॉइंट के लिए सर्वे होगा
शहर में रोड लाइट के करीब 700 पॉइंट ऐसे हैं, जिन्हें मैनुअली ऑन अॉफ करने का ठेका होता है। इससे हर साल 21 लाख रुपए से अधिक का राजस्व भार पड़ता है। जबकि एलईडी लाइट को लेकर निगम के साथ एमओयू करने वाली ईईएसएल कंपनी को इन पाॅइंट के लिए 800 सैंट्रल कंट्रोल मॉनिटरिंग सिस्टम(सीसीएमएस) लगाने थे। कंपनी ने 500 भी पूरे नहीं लगाए। उधर, निगम ने इस बार भी मैनुअली स्विच ऑन ऑफ करने का छह माह का ठेका देने की तैयारी कर ली थी। लेकिन मामला उजागर होने के कारण टेंडर नहीं हो सके। अब महापौर का कहना है कि मैनुअली पॉइंट के लिए सर्वे कराया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें