पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीकानेर में घातक होता कोरोना:2 की कोविड से मौत की आशंका; अप्रैल में हर दिन मार्च से 9 गुना ज्यादा रोगी मिल रहे

बीकानेर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तैयारी देखने कोविड हॉस्पिटल पहुंचे कलेक्टर, कहा-आईसीयू तैयार रखो - Dainik Bhaskar
तैयारी देखने कोविड हॉस्पिटल पहुंचे कलेक्टर, कहा-आईसीयू तैयार रखो
  • मार्च तक तीन महीने में जितने रोगी आए उससे ज्यादा अप्रैल के सात दिन में

बीकानेर में कोरोना का प्रकोप लगातार गहराता जा रहा है। बुधवार को 65 नए रोगियों के साथ ही अप्रैल के सात दिनों में 305 पॉजिटिव हो चुके हैं। इन सात दिनों में कुल 6421 सैंपल हुए हैं। मतलब यह कि प्रत्येक सौ सैंपल में से औसतन पांच पॉजिटिव सामने आ रहे हैं। सात दिन के पॉजिटिव रोगियों का यह आंकड़ा जनवरी से मार्च के तीन महीनों में रिपोर्ट हुए 288 रोगियों से भी ज्यादा है। मार्च में जहां हर दिन औसतन पांच रोगी रिपोर्ट हो रहे थे वहीं अप्रैल में हर दिन 44 यानी लगभग नौ गुना रोगी सामने आ रहे हैं।

इन सबके बीच बुधवार सुबह बीते 24 घंटों में दो ऐसे रोगियों की मौत हो गई जिन्हें कोविड की आशंका थी। कोविड की आशंका वाले डी-वार्ड में भर्ती इन रोगियों की मौत के बाद आई रिपोर्ट में सैंपल दुबारा लेने की सलाह दी गई थी तब तक अंतिम संस्कार भी हो गया। इसके अलावा दो रोगियों की मौत के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आई। ऐसे में आशंका यह है कि कोरोना जानलेवा भी हो सकता है। वजह, जनवरी से अब तक पीबीएम में दो पॉजिटिव रोगियों की जान जा चुकी है। यह स्थिति तब है जबकि शहरी क्षेत्र से सैंपल अपेक्षाकृत कम हो रहे हैं।

दूसरी ओर बुधवार को रिपोर्ट हुए 65 पॉजिटिव में से 35 बीकानेर शहरी क्षेत्र के हैं। इनमें से 25 परकोटा और आस-पास के इलाके से हैं। मतलब यह कि परकोटा और आस-पास के इलाकों में एक बार फिर कोरोना का प्रकोप गहराने लगा है। पिछले छह दिनों से हर दिन औसतन 15 रोगी परकोटा और आस-पास से रिपोर्ट हो रहे हैं। हालांकि अब हर दिन औसतन सैंपल की संख्या 505 से बढ़कर 917 तक हो गई है लेकिन अब भी शहरी क्षेत्र के सैंपल अपेक्षाकृत कम है। ऐसे में बड़ी तादाद में रोगी छिपे होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।

इसलिए चिंता जरूरी -403 एक्टिव केस, इनमें से 376 होम आइसोलेट जिन पर कोई पाबंदी नहीं, कंटेनमेंट कहीं नहीं दिखे
चिंता की बात यह है कि नए रोगियों की साथ ही बीकानेर में एक्टिव केस 403 हो गए हैं। इनमें से 27 की हालत गंभीर होने से पीबीएम हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। अब तक 376 पॉजिटिव होम आइसोलेट हैं। हालांकि हाेम आइसोलेट किए गए रोगियों को बाहर निकलने से मनाही है और जिन इलाकों में पांच से ज्यादा रोगी है वहां मिनी कंटेनमेंट जोन बनाने का भी निर्देश हैं। इसके बावजूद कहीं भी कंटेनमेंट जोन दिखाई नहीं दे रहे हैं। होम आइसोलेट रोगियों की देखभाल करने या जानकारी लेने भी टीमें नहीं पहुंच रही हैं। ऐसे में परिजनों से होते हुए मोहल्लों में संक्रमण फैलने की आशंका कई गुना बढ़ गई है।

23 रोगी जिला हॉस्पिटल से रिपोर्ट
14 पीबीएम कोविड ओपीडी, 23 जिला हॉस्पिटल, 04 गंगाशहर सेटेलाइट, 03 बीकानेर रेलवे स्टेशन, 02 सिटी डिस्पेंसरी संख्या दो, 02 फोर्ट डिस्पेंसरी,03 शहर की अन्य डिस्पेंसरियों से, 02 पीबीएम के विभिन्न वार्डों में भर्ती रोगी, 05 नोखा, श्रीडूंगरगढ़, मिलिट्री हॉस्पिटल, महाजन, लालगढ़ रेलवे स्टेशन से भी एक-एक रोगी रिपाेर्ट।

तैयारी देखने कोविड हॉस्पिटल पहुंचे कलेक्टर, कहा-आईसीयू तैयार रखो
लगातार बढ़ते रोगियों को देखते हुए प्रशासन अब हाई अलर्ट हो गया है। कलेक्टर नमित मेहता बुधवार को जिले के अधिकारियों के साथ हॉस्पिटलों के हालात देखने पहुंचे। खासतौर पर पीबीएम परिसर के एमसीएचओ कोविड हॉस्पिटल में उन्होंने लगभग पौन घंटे में एक-एक व्यवस्था को देखा-परखा। सुपरिंटेंडेंट डॉ.परमेन्द्र सिरोही, डा.बाबूलाल मीणा अदि से कहा-यह मानकर चलों कि रोगीभार पिछले पीक की तुलना में फिर ज्यादा हो सकता है। प्रत्येक बैड पर ऑक्सीजन रहे। आईसीयू में वेंटीलेटर, बैड सुसज्जित हो। इसके साथ् ही श्हार के दूसरे हॉस्पिटलों, डिस्पेंसरी में जाकर वैक्सीनेशन की स्थिति देखी। मुरलीधर व्यास कॉलोनी में टीकाकरण बढ़ाने का निर्देश दिया। सीएमएचओ डा.सुकुमार कश्यप, आरसीएचओ डा.राजेशकुमार गुप्ता, डिप्टी सीएमएचओ डॉ.योगेन्द्र तनेजा आदि इस दौरान साथ रहे।

14,393 को टीका लगा, फिर भी रफ्तार धीमी, अब कार्रवाई होगी
बुधवार को 134 बूथ पर 14,393 को टीका लगा। कलेक्टर नमित मेहता ने सेटेलाइट अस्पताल गंगाशहर व यूपीएचसी मुरलीधर व्यास नगर में चल रहे टीकाकरण का औचक निरीक्षण किया। जयपुर निदेशालय से आए निरीक्षण दल में शामिल अतिरिक्त निदेशक डॉ राजा चावला, यूनिसेफ के शशांक सविता व यूएनडीपी के योगेश शर्मा ने यूपीएचसी नंबर 7 व आशीर्वाद भवन में चल रहे टीकाकरण बूथ का निरीक्षण किया। कलेक्टर मेहता ने वीडियो कॉन्फ्रेंस कर उन अधिकारियों पर कार्रवाई की चेतावनी दी जिनके इलाकों में टीकाकरण कम हो रहा है। इनमें बीकानेर ग्रामीण, पूगल, कोलायत, बज्जू ब्लाॅक शामिल है। सीएमएचओ डॉ कश्यप ने बताया कि बुधवार को 12,230 व्यक्तियों ने कोविड वैक्सीन की पहली डोज व 2,163 ने दूसरी डोज लगवाई। 45 से 59 वर्ष आयु के 7,690 को पहली व 579 व्यक्तियों को दूसरी डोज दी गई।

डॉक्टरों का प्राइवेट लैब प्रेम, इस तरह जांच के लिए ट्रैफिक के बीच ले जाते हैं मरीज

अंबेडकर सर्किल से म्यूजियम चौराहे तक पीबीएम हॉस्पिटल के आगे हाईवे पर ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ स्ट्रेचर पर मरीजों को ले जाने के ये दृश्य आम हैं। इस बच्चे को ले जा रहे परिजनों का कहना है, जांच करवाने जा रहे हैं। पीबीएम में पैथोलोजी, माइक्रोबायलोजी, बायोकैमेस्ट्री लैब की जांच सहित एक्स-रे से लेकर एमआरआई तक सभी मशीनें हैं। इसके बावजूद भर्ती रोगियों को निजी लैब से जांच करवाने की हिदायत आमतौर पर डॉक्टर दे रहे हैं। इसका नतीजा, हाइवे पर दिख रहे हैं ऐसे हैरान करने वाले दृश्य।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें