पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजस्थान में खेल-खेल में बड़ा हादसा:लुका-छिपी खेलते पांच बच्चे लोहे से बनी अनाज की टंकी में घुस गए, अचानक ढक्कन गिरने से दम घुटा; 4 सगे भाई-बहन समेत सभी की गई जान

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीकनेर के नापासर में पीछे रखी अनाज की इसी टंकी (कोठरी) में पांचों बच्चे छिप गए थे। इसी दौरान ढक्कन गिर गया। दम घुटने से सभी की मौत हो गई। - Dainik Bhaskar
बीकनेर के नापासर में पीछे रखी अनाज की इसी टंकी (कोठरी) में पांचों बच्चे छिप गए थे। इसी दौरान ढक्कन गिर गया। दम घुटने से सभी की मौत हो गई।
  • बीकानेर के नापासर गांव में रविवार दोपहर 2 बजे हुआ दर्दनाक हादसा, मृतक बच्चों की उम्र 8 साल से कम

राजस्थान में बिकानेर में रविवार को दम घुटने से पांच बच्चों की जान चली गई। मृतकों में 4 सगे भाई-बहन हैं। सभी की उम्र 8 साल से कम है। हादसा बच्चों के लुका-छिपी खेलने के दौरान हुआ। बच्चे छिपने के लिए घर में रखी अनाज की कोठरी (टंकी) में बंद हो गए। इसके बाद कोठरी का ढक्कन अचानक बंद हो गया। दम घुटने से सभी की मौत हो गई। 4 बच्चों की मां बच्चों को तलाशते हुए कोठरी में पहुंची तो पांच बच्चों की लाश देखकर बेसुध हो गई।

घटना नापासर के हिम्मतासर गांव की है। यहां किसान भीयाराम का परिवार खेत में गया हुआ था। इसी दौरान पांच बच्चे घर पर थे। इसमें चार भीयाराम के बेटे-बेटियां थे जबकि पड़ोसी की भांजी थी। भीयाराम का बेटा सेवाराम (4 साल) के अलावा तीन बेटियां रविना (7 साल) राधा (5 साल) और टींकू उर्फ पूनम (8 साल) के साथ ही भीयाराम की भांजी माली पुत्री मघाराम घर पर खेल रहे थे।

इस दौरान सभी बच्चे लोहे की चादर से बनी अनाज की कोठरी में घुस गए। बच्चों के कोठरी के अंदर घुसने के बाद उसका ढक्कन नीचे आ गया और खुद ही बंद हो गया। टंकी की गहराई 5 फीट और चौड़ाई करीब 3 फीट है। यह इतनी भारी है कि बच्चे चाहकर भी इसे नहीं खोल सकते थे। घटना के दौरान घर में भी कोई नहीं था, वर्ना बच्चों की जान बच जाती।

मौके पर पहुंची FSL की टीम मुआयना करते हुए।
मौके पर पहुंची FSL की टीम मुआयना करते हुए।

FSL की टीम पहुंची मौके पर
नापासर पुलिस ने मौके पर FSL की टीम को भी बुलाया। इस टीम के सदस्यों ने अनाज की कोठरी को देखा। उसकाे नाप लिया। उसमें बच्चे कैसे गिर सकते हैं, उसे भी देखा। स्थानीय लोगों से भी इस बारे में जानकारी ली। FSL की टीम इस बारे में रिपोर्ट देगी कि घटना के क्या क्या कारण हो सकते हैं।

मां ने सबसे पहले देखी अपने बच्चों की लाश
भीयाराम की पत्नी दो बजे बाद खेत से घर लौटी थी। बच्चों को देखा तो वह नजर नहीं आए। थोड़ी देर तो इधर-उधर ढूंढा लेकिन कोई नहीं मिला। बाद में अनाज की कोठरी को देखा। इसमें एक-दो नहीं बल्कि भीयाराम के चार बच्चों सहित पांच बच्चे बेसुध पड़े थे। मां ने चिल्लाकर लोगों को बुलाया। उन्हें बाहर निकाला गया लेकिन तब तक पांचों बच्चों की मौत हो चुकी थी। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। नापासर थाना प्रभारी ने बताया कि बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

मृतक बच्ची माली। ये अपने ननिहाल आई हुई थी।
मृतक बच्ची माली। ये अपने ननिहाल आई हुई थी।
खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें