पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कुंभ मेला:हरिद्वार में पहली बार 12 साल की जगह 11वें साल में ही आ गया कुंभ का मेला, 14 जनवरी से होगी शुरुआत

बीकानेर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रयागराज, उज्जैन और नासिक में भी भर चुके हैं 11वें साल में कुंभ के मेले
  • वैशाख की संक्रांति के समय सूर्य, चंद्रमा मेष राशि में, बृहस्पति के कुंभ राशि में होने की युति बनने से हुआ ऐसा

14 जनवरी को मकर संक्रांति से हरिद्वार में कुंभ मेला प्रारंभ होगा। हजारों साल के कुंभ मेले के इतिहास में यह पहली बार हो रहा है कि हरिद्वार में हर 12 साल में आने वाला कुंभ मेला 11वें साल में ही आ गया है। इससे पहले प्रयागराज, उज्जैन और नासिक में 11वें साल में कुंभ मेले भर चुके हैं। तीनों कुंभ के साथ 11वें साल में कुंभ मेला आने का संयोग 83 वर्षों के बाद बना है। 83 वर्ष पहले 1938 में कुंभ मेला भरा था। इससे पहले इस तरह की घटना वर्ष 1760 और 1885 में हुई थी।

ज्योतिर्विद पंडित हरिनारायण व्यास मन्नासा बताते हैं कि ऐसा होने का प्रमुख कारण है कि इसकी काल गणना। वैशाख की संक्रांति के समय सूर्य, चंद्रमा का मेष राशि में तथा बृहस्पति का कुंभ राशि में होने पर ही कुंभ महापर्व मनाया जाता है। यह युति 2022 की जगह 2021 में ही बन गई। इस कारण हरिद्वार में कुंभ का महापर्व 11वें साल में आ गया है। अब आगामी कुंभ महापर्व 12 साल बाद 2033 में होगा।

अमृत कलश से पृथ्वी पर 12 जगह गिरी अमृत बूंदें, भारत में जिन 4 स्थानों पर गिरी, वहीं भरता है कुंभ मेला : मन्नासा बताते हैं कि समुद्र मंथन के दौरान अमृत कलश को लेने के लिए देवता-दानवों के बीच संघर्ष हो रहा था। उस समय पृथ्वीलोक में 12 जगह ये अमृत बूंदें गिरी। भारत में यह बूंदें हरिद्वार, प्रयागराज, उज्जैन व नासिक में गिरी। ये बूंदे जिस गृह स्थिति में गिरी। उस स्थान पर वही गृह स्थिति बनती है तो वहां कुंभ का मेला भरा जाता है।

27 अप्रैल तक चलेगा मेला, 4 शाही स्नान होंगे
हरिद्वार में कुंभ का आगाज मकर संक्रांति को पहले स्नान से होगा जो 27 अप्रैल को अंतिम शाही स्नान के साथ पूर्ण होगा। इस दौरान 4 शाही स्नान भी होंगे। 14 जनवरी को मकर संक्रांति का पहला स्नान, 11 फरवरी को मौनी अमावस्या का स्नान, 16 फरवरी को बसंत पंचमी का स्नान, 27 फरवरी को माघ पूर्णिमा का स्नान, 11 मार्च को महाशिवरात्रि के दिन प्रथम शाही स्नान, 12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या को दूसरा शाही स्नान, 14 अप्रैल को वैशाखी पर तीसरा शाही स्नान, 21 अप्रेल को रामनवमी का स्नान व 27 अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा का अंतिम शाही स्नान।

कुंभ महापर्व के लिए बीकानेर-हरिद्वार स्पेशल ट्रेन आज से
बीकानेर से हरिद्वार के लिए स्पेशल ट्रेन बुधवार से शुरू हाेगी। यह ट्रेन रात में 11.25 बजे बीकानेर से चलकर अगले दिन अपरान्ह 3.20 बजे हरिद्वार पहुंचेगी। हरिद्वार से यह ट्रेन शाम 4.45 बजे रवाना हाेकर सुबह 7.50 बजे बीकानेर आएगी। सीनियर डीसीएम अनिल रैना ने बताया कि रेल यात्रियाें की डिमांड पर इस ट्रेन काे शुरू किया जा रहा है। आगामी आदेश तक चलने वाली यह ट्रेन श्रीडूंगरगढ़, चूरू, हिसार, रोहतक, कुरूक्षेत्र, अम्बाला कैंट तथा सहारनपुर होकर संचालित होगी।

उत्तर पश्चिम रेलवे पर यह रेलसेवा श्रीडूंगरगढ़, रतनगढ़, चूरू, सादुलपुर, हिसार, भिवानी स्टेशनों पर ठहराव करेगी। हरिद्वार के लिए अभी बाड़मेर-ऋषिकेश ट्रेन का संचालन नियमित रूप से जारी है। यह ट्रेन शाम 5 बजे चलकर सुबह 7.50 बजे हरिद्वार पहुंचती है। हरिद्वार से शाम 7.35 बजे चलकर सुबह 10. 55 बजे बीकानेर पहुंचती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser