पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • For The First Time, On The Day Of NEET Examination, All The Medicos Were Kept In The Class, 6 Teachers Were Engaged In Verification At The Centers

24 सेंटर पर 7317 ने नीट परीक्षा दी:पहली बार नीट परीक्षा के दिन सभी मेडिकोज को क्लास में बैठाए रखा, 6 टीचर सेंटर्स पर वेरिफिकेशन में लगाए

बीकानेर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीकानेर में रजिस्टर्ड 7524 स्टूडेंट्स में से 207 स्टूडेंट्स यानी 2.75%अब्सेंट

नीट परीक्षा में बीकानेर के 24 सेंटर्स पर 7317 स्टूडेंट बैठे। लेकिन उन 1000 मेडिकल स्टूडेंट की भी अग्निपरीक्षा हो गई जो पहले से ही एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हैं। इन सभी मेडिकोज को रविवार सुबह छुट्टी के दिन भी कॉलेज पहुंचने को पाबंद किया। चार अलग-अलग लैक्चर थियेटर में बिठाए गए स्टूडेंट की पहले हाजिरी हुई।

फिर विशेष तौर पर नियुक्त पर्यवेक्षकों ने आई कार्ड से उनका मिलना किया। जो पहले से छुट्टी पर थे या अबसेंट थे उनके घर फोन किया। परिजनों ने जब इस बात की तस्दीक की कि हमारा बच्चा घर पर ही है तब भी संतुष्टि नहीं हुई। कहा-निकटवर्ती थाने में जाकर अपना फिजिकल वेरीफिकेशन करवाओ।

मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस स्टूडेंट्स की छुट्टी के दिन इस सख्ती के साथ हुई हाजिरी की वजह थी, नीट एग्जाम। एक दिन पहले ही प्रदेश में नीट एग्जाम में नकल करवाने वाले गिरोह का भंडाफोड हुआ था। इसमें मेडिकल स्टूडेंट्स के शामिल होने का भी संदेह सामने आया। आशंका यह थी कि कई मेडिकोज डमी स्टूडेंट बनकर किसी अन्य परीक्षार्थी के लिए परीक्षा दे सकते हैं।

इसी को देखते हुए सरकार ने मेडिकल कॉलेजों को निर्देश दिया था कि एक-एक स्टूडेंट की हाजिरी सुनिश्चित करें। तसल्ली महज इतने पर ही नहीं हुई। इससे भी आगे बढ़ते हुए सरकार के आदेश पर मेडिकल कॉलेज के छह डॉक्टर्स की एक टीम बनाई गई। इस टीम ने बीकानेर शहर के सभी 24 सेंटर्स पर घूमकर देखा कि कहीं कोई मेडिकोज डमी कैंडीडेट बनकर न पहुंच जाएं।

एक हजार मेडिकोज, 4 लेक्चर थियेटर में बैठाएं, एचओडी से प्राचार्य तक ने किया वेरिफिकेशन
एनाटोमी, फार्माकोलोजी, पीएसएम और मेडिसिन विभाग के लेक्चर थियेटर में 2017 से 2020 तक के चार बैच के स्टूडेंट्स को अलग-अलग बिठाया। इन सभी की हाजिरी विभागाध्यक्षों ने ली। अतिरिक्त प्राचार्य डॉ.रंजन माथुर ने सभी क्लासेज में जाकर वेरिफिकेशन किया।

इन सर्च ऑफ मेडिकोज..ये डॉक्टर्स उड़नदस्ते के रूप में नीट सेंटर्स पर पहुंचे
डॉ.डी.पी.सोनी, डॉ.अनिता वर्मा, डॉ.रेखा गहलोत, डाॅ.सुरेन्द्र जिंगर, डॉ. प्रमोद कुमार नारनोलिया, डॉ.पूनाराम की टीम ने उड़नदस्ते के रूप में नीट सेंटर्स पर जाकर देखा कि कहीं कोई मेडिकल स्टूडेंट तो एग्जाम देने नहीं पहुंच गया।

केन्द्रों पर निगहबानी

सीसीटीवी कैमराें से नजर, हर सेंटर पर जैमर लगाए

एनटीए की ओर से रविवार को बीकानेर में 24 केंद्रों पर 7524 स्टूडेंट्स के लिए नीट-यूजी 2021 की परीक्षा हुई। परीक्षा में स्टूडेंट्स की उपस्थिति का आंकड़ा 97.25% रहा। केवल 2.75% स्टूडेंट्स परीक्षा देने नहीं पहुंचे। बीकानेर में इस परीक्षा के लिए 7524 स्टूडेंट्स रजिस्टर्ड थे। परीक्षा देने 7317 पहुंचे। जबकि 207 स्टूडेंट्स अबसेंट रहे।

परीक्षा एक पारी में दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक हुई। सेक्युरिटी के डायरेक्टर नंद किशोर ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से प्रत्येक केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। इन कैमरों के जरिए एनटीए के अधिकारी दिल्ली में बैठे परीक्षा पर पूरी नजर रखे हुए थे। परीक्षा केंद्रों पर जैमर भी लगे। कोविड-19 की गाइडलाइन के मुताबिक स्टूडेंट्स का प्रवेश सुबह 11 बजे से संबंधित केंद्र पर शुरू कर दिया गया जो कि 1.30 बजे तक चला।

एनालिसिस... पेपर आसान, मेरिट हाई जा सकती है : स्टूडेंट्स ने बताया कि पेपर इजी आया है, ऐसे में एक बार फिर मेरिट हाई जा सकती है। पिछली बार सामान्य वर्ग को 600 नंबर के आसपास ही सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल पाया था, इस बार इससे ज्यादा लेने वाले स्टूडेंट्स को ही एडमिशन मिल सकेगा।

खबरें और भी हैं...