• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • If Everything Goes Well, This Time There Will Be Miss Marwan And Mr. Bikana Competition, Tourists Will Also Be Able To See The Tricks Of The Camel.

पर्यटन विभाग ने तैयारियां शुरू की:सबकुछ ठीक रहा तो इस बार होगी मिस मरवण व मिस्टर बीकाणा प्रतियोगिता, ऊंट के करतब भी देख पाएंगे सैलानी

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पर्यटन विभाग ने तीन दिन के कार्यक्रमों का विस्तृत प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेज दिया है। - Dainik Bhaskar
पर्यटन विभाग ने तीन दिन के कार्यक्रमों का विस्तृत प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेज दिया है।

पिछले साल कोरोना महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव नहीं हो पाया। प्रदेश में पर्यटन विभाग का कोई भी उत्सव नहीं हुआ। इस बार ऊंट उत्सव की घोषणा जिला कलेक्टर कर चुके हैं। उनकी घोषणा के साथ ही 7 से 9 जनवरी के बीच तीन दिनों में ऊंट उत्सव के दौरान बहुत सारे कार्यक्रम होंगे। सबकुछ ठीक रहा, कोरोना कंट्रोल में रहा तो इस बार फिर से स्टेज पर मिस मरवण व मिस्टर बीकाणा प्रतियोगिता होगी। ऊंटों के करतब भी करवाएं जाएंगे।

ऊंट उत्सव में सैलानियों को सबसे अधिक ऊंटों के करतब पसंद आते हैं। इस बार दरबारी झील पर रिद्मस ऑफ लाइफ का संगीत कार्यक्रम होगा। लक्ष्मीनाथजी मंदिर से रामपुरिया हवेली तक हेरिटेज वॉक की तैयारी की जा रही है।

रायसर के धोरों में पुरुष रस्साकसी, महिला रस्साकसी, महिला मटका दौड, ग्रामीण कुश्ती आदि के साथ ही ऊष्ट्र अनुसंधान केंद्र में ऊंट व घुड़ दौड़ कराने की तैयारी में भी पर्यटन विभाग है। पर्यटन विभाग ने तीन दिन के कार्यक्रमों का विस्तृत प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेज दिया है। वहां से स्वीकृति मिलते ही, इन्हें अंतिम रूप दिया जाएगा।

मसाला चौक में सजेगी खान-पान की महफिल
मसाला चौक में बीकानेर के प्रसिद्ध मिठाइयां व नमकीन की स्टाल लगाई जाएगी। सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम से पूर्व तीनों दिन पुलिस एवं बीएसएफ द्वारा बैंड वादन किया जाएगा। जिला उद्योग केंद्र द्वारा जेएनवी कॉलोनी में अमृता हाट बाजार लगाया जाएगा।

7 को दरबारी, 8 को स्टेडियम व 9 को रायसर में कार्यक्रम
7 जनवरी :
सुबह के समय दरबारी झील पर रिदमस ऑफ लाइफ के तहत संगीत, योग व ध्यान की प्रस्तुति, काढ़ा वितरण। शाम को लक्ष्मीनाथजी मंदिर से रामपुरिया हवेली तक लोक कलाकारों द्वारा हेरिटेज वॉक व रात को सूरसागर के पास सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा।

8 जनवरी : सुबह के समय जूनागढ़ किले से डाॅ. करणी सिंह स्टेडियम तक शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसके बाद स्टेडियम में ही मिस मरमण, मिस्टर बीकाणा, ऊंट शृंगार, ऊंट बाल कतराई व ऊंट नृत्य के कार्यक्रम होंगे। शाम को वहीं पर संगीत कार्यक्रम रखा जाएगा। आतिशबाजी भी की जाएगी।​​​​​​​

9 जनवरी : सुबह जोड़बीड़ कंजर्वेशन सेंटर पर बर्ड वाचिंग, इसके बाद रायसर के धोरों पर पुरुष व महिला रस्साकसी, महिला मटका दौड़, ग्रामीण कुश्ती, कैमल राइड व ऊंट नृत्य प्रदर्शन किया जाएगा। शाम को राष्ट्रीय ऊष्ट्र अनुसंधान एवं अश्व अनुसंधान केंद्र पर ऊंट व घुड़ दौड़ का आयोजन किया जाएगा। ​​​

खबरें और भी हैं...