• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • If You Have Dedication Towards The Target With High Spirits, Then You Can Become IAS In The First Time, Jayant Of Bikaner Did This Amazing

पहली ही कोशिश में IAS बने जयंत:जानिए इंटरव्यू में किस तरह के किए गए सवाल, बताया- युवा कैसे करें UPSC की तैयारी

बीकानेरएक वर्ष पहले
UPSC में चयनित जयंत अपनी मां सुमन के साथ।

बीकानेर के गांधी नगर में रहने वाले जयंत सिंह राठौर महज 23 साल के हैं। वो आज UPSC के सिविल सर्विस एग्जाम में मेरिट पर 59वें स्थान पर रहे हैं और उनका IAS बनना तय हो गया है। इस सफलता के बाद से घर में उत्सव का माहौल है। धौलपुर में जिला रसद अधिकारी (DSO) के रूप में काम कर रहे उनके पिता भंवर सिंह राठौड़ और मां सुमन राठौड़ सहित पूरे परिवार के लिए आज सबसे बड़ा उत्सव है। वेटरनरी कॉलेज में पीजी कर रही बहन कोमल राठौड़ की खुशी आज सातवें आसमान पर है। 7 नवम्बर 1998 को जन्मे जयंत सिंह राठौड़ टेनिस खेलने का शौक रखते हैं। दैनिक भास्कर ने जयंत सिंह से बातचीत की।

आपकी एज्युकेशन जर्नी कैसी रही?

जिंदगी बहुत ही सामान्य रही है। बीकानेर के बीकानेर बॉयज स्कूल (BBS) से मैंने अपनी स्कूली पढ़ाई की, इसके बाद बिट्स पिलानी से मैन्युफेक्चरिंग इंजीनियरिंग में बैचलर इन इंजीनियरिंग (BE) की है। इसके साथ ही IAS बनने के लिए तैयारी की। शुरूआत में नई दिल्ली में कोचिंग ज्वाइन की थी लेकिन बाद में घर पर ही पढ़ाई की। ये मेरा पहला प्रयास था, सफलता मिल गई।

आप IAS बनने जा रहे हैं, क्या सपना है आपका?

दैनिक भास्कर के साथ बातचीत में जयंत ने कहा कि मैं देश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार करना चाहता हूं। आज राजस्थान में ही शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम की जरूरत है। क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़े हमारे राज्य में शिक्षा का दायरा लगातार बढ़ रहा है। मेरी इच्छा है कि मैं शिक्षा के क्षेत्र में जमकर काम करुं। राजस्थान में एज्युकेशन में काम करने का काफी स्कोप है। समाज को सहयोग करना होगा।

अपने पिता भंवर सिंह राठौड़ के साथ जयंत सिंह राठौड़।
अपने पिता भंवर सिंह राठौड़ के साथ जयंत सिंह राठौड़।

IAS का जनता के प्रति एटिट्यूट बदल जाता है?

ऐसा नहीं है। वो भी जनता के लिए ही काम कर रहे हैं। काम की अधिकता और कई मुद्दों पर बाहर नहीं बोलने की बाध्यता से ऐसा हो सकता है। मैं अपने कार्यकाल में देश के लिए कुछ करने की कोशिश करुंगा। हमें पॉजिटिव रहने वाले IAS काे देखना चाहिए। कोरोना काल में बहुत काम किया है।

युवा कैसे तैयारी करें?

सिविल सर्विसेज में जाना है तो आपना निश्चय दृढ़ होना चाहिए। सिर्फ बातों से ये काम नहीं हो सकता। तैयारी के प्रति डिसिप्लेन, डेडिकेशन की जरूरत है। आपकी रुचि का जो विषय है, उसी पर ध्यान दें। उसी पर अतिरिक्त मेहनत करके उसके सारे कांसेप्ट क्लियर करें। तैयारी के लिए हर माध्यम का उपयोग करें। मैंने एंथ्रोपॉलॉजी विषय था।

किस तरह के सवाल आपसे किए गए?

इंटरव्यू में अधिकांश सवाल मेरे बैकग्राउंड के बारे में ही पूछा गया। राजस्थान की अनुसूचित जाति-जन जाति के बारे में पूछा गया। मैं टेनिस का शौकीन हूं, इसलिए टेनिस के बारे में काफी जानकारी ली गई। जोकोविच के बाद टेनिस की दुनिया में कौन आगे आएगा? भारत में कैसे टेनिस को आगे बढ़ाया जा सकता है। आप जो कुछ स्वयं के बारे में बताते हैं, उसी के बारे में सवाल किया जाता है।

खबरें और भी हैं...