नशे की तलब, कोरोना पर भारी:बेखौफ अपराधी-उपखंड कार्यालय के पास ही बिक रही थी अवैध शराब, पुलिस की कार्रवाई

बीकानेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लूणकरनसर के एक होटल में शराब पर पुलिस कार्रवाई। फोटो : रामप्रताप गोदारा - Dainik Bhaskar
लूणकरनसर के एक होटल में शराब पर पुलिस कार्रवाई। फोटो : रामप्रताप गोदारा

कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी से हर रोज लोग मर रहे हैं लेकिन नशा करने की आदत इस बीमारी पर भी भारी है। हालात ये है कि शहर और गांव में इस विकट काल में भी अवैध रूप से शराब और तंबाकू बेचने वालों की बाढ़ सी आ गई है। लूणकरनसर में जहां एक SDM कार्यालय के पास ही शराब बिक रही थी, वहीं अनेक थाना क्षेत्रों में गुटखों की अवैध बिक्री हो रही है।

लूणकरनसर के नेशनल हाइवे 62 पर SDM कार्यालय के ठीक पास ही एक होटल में अवैध रूप से शराब पिछले कई दिनों से बिक रही थी। यहां शराब की कालाबाजारी हो रही थी और तय दाम से भी ज्यादा वसूले जाने की शिकायत है। पुलिस ने दबिश दी तो भारी मात्रा में शराब मिली। सीआई ईश्वर प्रसाद जांगिड़ ने बताया कि राजमार्ग-62 पर एक होटल से देशी शराब की 2 पेटी में 96 पव्वे तथा 4 पेटी बियर में 50 बोतल बरामद की गई। मौके पर चुरू के वार्ड 46 निवासी आरोपी सूर्यकांत अग्रवाल को गिरफ्तार कर आबकारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।

उधर, देशनोक में तंबाकू, जर्दा व गुटखे बेचे जा रहे हैं। यहां पुलिस ने कार्रवाई करके एक दुकानदार को महामारी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है। यह 0अलग अलग ब्रांड के गुटखे बेच रहा था। देशनोक में कर्फ्यू चल रहा है लेकिन पनाराम जाट रेलवे फाटक के पास गुटखों की बिक्री में लगा हुआ था। शिकायत मिलने पर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

बीकानेर में भी गुटखों की कालाबाजारी जमकर हो रही है। शहर में दुकानें तो बंद है लेकिन अंदरखाने गुटखों के सभी ब्रांड आसानी से मिल रहे हैं। कुछ किराना दुकानों पर भी गुटखों की बिक्री हो रही है। इन दुकानों पर गुटखों की बिक्री को लेकर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है, ऐसे में अधिक दाम देकर भी लोग यहां से खरीद कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...