पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मीटिंग:मूंग की खेती बढ़ाएं ताकि खरीदनी ना पड़े : कुलपति

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्वामी केशवानंद कृषि विवि के कुलपति प्राे.आरपी सिंह ने वर्चुअल श्रीगंगानगर अनुसंधान केन्द्र से मूंग पर मीटिंग की। वैज्ञानिकाें से कहा कि चना, मसूर, खेसरी, मटर, राजमा की रबि ऋतु में खेती की जाती है । हमारे देश में दलहनी फसलों की पैदावार विकसित देशों की अपेक्षा काफी कम आती है।

एक अनुमान के अनुसार देश में दालों की वार्षिक खपत लगभग 18 मिलियन टन है और उत्पादन 13 से 14.8 मिलियन टन रहता है इस प्रकार देश को 3 से 4 मिलियन टन दालों का आयात करना पड़ता है । देश के प्रमुख दलहन उत्पादन करने वाले राज्यों में राजस्थान का भी मुख्य स्थान है। डॉ बी.एस. मीणा ने मूंग संवाद कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की डॉ आर. पी. एस. चौहान ने श्रीगंगानगर खंड में मूंग का परिदृश्य पर स्थिति स्पष्ट की।

खबरें और भी हैं...