होलसेल भंडार के बोर्ड मेंबर की बैठक में कई निर्णय:गंगाशहर, भीनासर, जेएनवी व एमडीवी कॉलोनी में भी खुलेगी होलसेल भंडार की मेडिकल दुकानें

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
होलसेल भंडार के संचालक मंडल की बैठक हुई। - Dainik Bhaskar
होलसेल भंडार के संचालक मंडल की बैठक हुई।
  • दवाइयों के लिए नए टेंडर निकाले जाएंगे

आरजीएचएस कार्ड योजना में पेंशनर्स के साथ ही सरकारी कर्मचारियों को शामिल करने के बाद होलसेल भंडार ने तेजी से अपनी दुकानों की संख्या बढ़ानी शुरू कर दी है। शहरी क्षेत्र की कॉलोनियों में भी दुकानों के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत कर दिया गया है। शुक्रवार को विजय सहकार भवन में संचालक मंडल की बैठक में ऐसे कई निर्णय हुए। होलसेल भंडार चेयरमैन लाखन सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि अब गंगाशहर, भीनासर, जेएनवी और मुरलीधर व्यास कॉलोनी क्षेत्र में भी होलसेल भंडार की दवाइयों की दुकानें खोली जाए।

इसके साथ ही भंडार की दुकानों के लिए ब्रांडेड व जैनेरिक दोनों कंपनियों की एलोपैथी, आयुर्वेद, होम्योपैथी की दवाओं की खरीद के लिए टेंडर निकालने पर पर भी सहमति बनी। भंडार की करीब 1300 गज जमीन का पट्टा बनाने के लिए जीएम रणवीर सिंह को अधिकृत किया गया। यूआईटी के पास भंडार ने पट्‌टे के लिए रुपए जमा करवा रखे हैं। शेष राशि जमा करवाकर भंडार की जमीन का पट्‌टा बनाने का प्रस्ताव पास हुआ। बैठक में उपाध्यक्ष शिव शंकर हर्ष, संचालक नूतन जोशी, संतोष प्रजापत, नगेंद्र पाल सिंह शेखावत, रविराज सिंह आदि शामिल हुए।

सॉफ्टवेयर अपग्रडेशन का चल रहा है काम: होलसेल भंडार की दुकानों इन दिनों इंट्रेस्टेड कार्ड से निशुल्क दवाइयां देने के लिए काम आने वाले साफ्टवेयर को अपग्रेड किया जा रहा है। सभी दुकानों के स्टॉक को नए साफ्टवेयर में अपडेट किया जा रहा है। इस कारण कुछ दुकानों से दवाइयां देने का काम रोका हुआ है। पीबीएम, अणचाबाई व सैटेलाइट की दुकानों पर दवाइयां का वितरण निरंतर जारी है।

श्रीडूंगरगढ़ में नहीं मिल रही दुकान, बीसीएमओ ने दिया खाली जमीन का प्रस्ताव:श्रीडूंगरगढ़ में होलसेल भंडार की दुकान खोलने का प्रस्ताव बीसीएमओ डॉ. संतोष आर्य को होलसेल भंडार प्रबंधन ने भेजा था। भंडार श्रीडूंगरगढ़ सीएचसी में दुकान खोलने के लिए कमरे की मांग कर रहा था जिसे बीसीएमओ ने देने में असमर्थता जता दी। बीसीएमओ डॉ. संतोष आर्य का कहना है कि उनके पास सीएचसी में खाली कमरा नहीं है। उन्होंने भंडार प्रबंधन को पत्र लिखकर बता दिया है कि सीएचसी में उन्हें कमरा नहीं मिल सकता। वे चाहे तो खाली जमीन पर अपना कमरा बना सकते हैं। उसकी लागत किराए में काट सकते हैं।

होलसेल भंडार की आय में वृद्धि करने के साथ ही पेंशनर्स व सरकारी कर्मचारियों को हर दवा उपलब्ध करवाना हमारा ध्येय है। भंडार की दुकानों पर भीड़ ना हो इसके लिए हम पूरे शहर व तहसील स्तर पर भी दुकानें खोल रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग सहयोग करेगा तो जल्द लक्ष्य हासिल करेंगे।-लाखन सिंह, चेयरमैन, होलसेल भंडार

खबरें और भी हैं...