अर्जुन का ‘माेदीवाद’ / मेघवाल बोले-साम्यवाद-समाजवाद असफल, मोदी की ‘आत्मनिर्भरता’ सोच भारतीय दर्शन के करीब

Meghwal said-Communism-Socialism failed, Modi's 'self-reliance' thinking closer to Indian philosophy
X
Meghwal said-Communism-Socialism failed, Modi's 'self-reliance' thinking closer to Indian philosophy

  • विपक्ष पर अर्जुन के तीर-यूपी में बसें भेजने की सियासत करने वाले राजस्थान में क्याें नहीं भेजते
  • साम्यवाद, समाजवाद का ढांचा भारतीय दर्शन के मुताबिक नहीं, इसलिए नकारा गया, माेदीजी देश की परिस्थितियाें के मुताबिक ऐसे निर्णय ले रहे हैं जाे भारतीय दर्शन के करीब
  • पहले लाॅकडाउन इसलिए सख्त क्याेंकि इन्फ्रास्ट्रक्चर भी तैयार करना था, अब काेराेना से लड़ने की पूरी तैयारी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:59 AM IST

बीकानेर. बीकानेर सांसद एवं भारी उद्याेग मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने काेराेना से बिगड़े हालात के बीच केन्द्र सरकार की ओर घाेषित 20 लाख कराेड़ के पैकेज काे देश में आत्मनिर्भरता हासिल करने की दिशा में बड़ा और ठाेस कदम बताया। मेघवाल ने एक-एक सेक्टर से जुड़ी बारीकियां बताने के साथ ही आम आदमी, मजदूर, पशुपालक, किसान काे इससे मिलने वाले सीधे लाभ गिनाए। इन सबके बीच ही कहा, देश में साम्यवाद सफल नहीं हाे पाया। समाजवाद भी नहीं चला।

ये दाेनाें वाद भारतीय दर्शन के अनुरूप नहीं थे इसलिए नकार दिए गए। अब लगता है कि माेदीजी ने परिस्थितियाें के मुताबिक जाे व्यवस्था अपनाई है वह भारतीय दर्शन के अनुरूप है। इससे देश का हर तबका अपना पूरा याेगदान दे पाएगा और देश जल्द आत्मनिर्भर हाेगा। हमने आपदा काे अवसर में बदलने की रणनीति बनाई है।

बीकानेर के पत्रकाराें से ऑनलाइन संवाद में मेघवाल ने विपक्ष की ओर से पैकेज पर की गई टिप्पणियाें काे काेरी सियासत कहा। प्रियंका गांधी वाड्रा से जुड़े यूपी बस मामले पर कहा, जिन्हें इस माैके पर भी सियासत करनी है वे सियायत ही करेंगे। उन्हें बसें भेजनी ही थीं ताे राजस्थान में भेजते।

जब मरीज कम थे तब लाॅकडाउन-1 सख्ती से लगाया गय। अब पाॅजिटिव बड़ी तादाद में हाे गए हैं उन हालात में सख्ती हटाकर सबकुछ खुला कर देने के सवाल पर मेघवाल बाेले, पहले हमारे पास इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी थी। जान बचाने के लिए पीपीई किट, मास्क तक नहीं थे। इसलिए पहले चरणाें में लाेगाें काे बचाने के साथ ही इन्फास्ट्रक्चर तैयार करने पर जाेर दिया। अब जांच, उपचार, सुरक्षा के सभी इंतजाम अपने स्तर पर कर रहे हैं। काेराेना से लड़ाई में किसी भी स्तर पर व्यवस्थाओं की कमी नहीं रहेगी।
ऑनलाइन बातचीत में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता पंकज मीणा, शहर भाजपा अध्यक्ष अखिलेशप्रतापसिंह, देहात भाजपा अध्यक्ष ताराचंद सारस्वत माैजूद रहे। संयाेजक भाजपा नेता अशाेक भाटी ने किया।
काेराेना प्रभाविताें की मदद के लिए एमपी काेटे के साथ सीएसआर से भी पैसा लगाया
भारी उद्याेग मंत्री एवं सांसद अर्जुनराम मेघवाल ने इस बात पर हैरानी जताई कि बीकानेर में काेराेना प्रभाविताें की मदद के लिए अब तक मिले और खर्च हुए पैसे में एमपी काेटे का जिक्र नहीं किया गया है। बाेले, 28 लाख साताें विधानसभा क्षेत्राें के लिए मास्क-सेनेटाइजर आदि की खरीद के लिए दिए। बीकानेर देश के उन जिलाें में शामिल हैं जहां सीएसआर का पैसा सबसे ज्यादा लगा।

पुलिस, सफाईकर्मियाें काे सुरक्षा, स्वच्छता के लिए मास्क सेनेटाइजर देने के साथ ही कुली, हाॅकर्स, मंदिर के पुजारियाें तक काे राशन किट पहुंचाए हैं। बीकानेर में लगातार राम रसाेड़ा चल रहा है। पीबीएम में उपकरणाें से लेकर अन्य कामाें तक सीएसआर के लिए उपलब्ध करवाए गए पैसे का जिक्र भी उन्हाेंने किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना