• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Monsoon Rains Of The Last Phase Improved The Crop But Destroyed More Than Two Hundred Houses, In A Week More Than Two Hundred Kutcha Houses Fell In Bikaner

बीकानेर में बारिश राहत के साथ आफत बनी:अंतिम दौर की मानसूनी बारिश ने फसल तो सुधारी लेकिन दो सौ से ज्यादा घर उजाड़ दिए, एक सप्ताह में बीकानेर में दो सौ से ज्यादा कच्चे मकान गिरे

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोमासर में पिछले दिनों तेज बारिश जारी। - Dainik Bhaskar
मोमासर में पिछले दिनों तेज बारिश जारी।

मानसून ने जाते-जाते बीकानेर में बारिश से न सिर्फ मौसम सुहाना कर दिया, बल्कि खेत में खड़ी फसल की प्यास भी बुझा दी। वहीं, बारिश ने जिले में दो सौ से ज्यादा कच्चे मकान धराशायी कर दिए और बिजली गिरने से एक महिला सहित कई जानवरों की मौत हो गई। जिन गांवों में मकान गिरे हैं, वहां अब तक कोई बड़ा अधिकारी ये देखने नहीं पहुंचा कि किस हालात में वो अपना जीवन यापन कर रहे हैं। दरअसल, तेज बारिश ने सबसे ज्यादा नुकसान श्रीडूंगरगढ़ और लूणकरनसर में किया है।

लूणकरनसर में इस तरह के कच्चे मकान बड़ी संख्या में गिर गए हैं।
लूणकरनसर में इस तरह के कच्चे मकान बड़ी संख्या में गिर गए हैं।

सवा सौ से ज्यादा मकान गिरे

लूणकरनसर के रावासर, आडसर, नाथूसर में ही सवा सौ से ज्यादा मकान गिर गए। लूणकरनसर के रावासर में तो भारी नुकसान हुआ। पिछले दिनों बारिश के बाद यहां पचास के आसपास कच्चे मकान गिर गए। वहीं आडसर व नाथूसर में भी मकान धराशायी हुए। सोमवार को बिजली गिरने से यहां एक महिला की मौत भी हो गई थी। वहीं शेरपुरा में बिजली गिरने से सांड की मौत हो गई। मोमासर व आसपास के कई गांवों में कच्चे मकान गिर गए। मोमासर, सतासर, उदरासर, सूरजनसर में मकान गिरने से लोग अब नए सिरे से कच्चे मकान बनाने में जुटे हैं। मोमासर में तो पक्के मकान भी गिरे हैं।

श्रीडूंगरगढ़ के सूरजनसर स्थित सरकारी स्कूल में भी काफी नुकसान हुआ है।
श्रीडूंगरगढ़ के सूरजनसर स्थित सरकारी स्कूल में भी काफी नुकसान हुआ है।

श्रीडूंगरगढ़ में भी नुकसान

श्रीडूंगरगढ़ में भी बारिश के कारण भारी नुकसान हुआ है। जिन गांवों में मकान गिरे हैं, वहां अब तक लोग खुले में ही रहने को मजबूर है। हालात ये है कि लखासर, धोलिया, सुरजनसर, लाखनसर, जालपसर में स्थित कच्ची बस्तियों में अब लोग खुले में ही निवास करते नजर आ रहे हैं। पिछले चार दिन की बारिश में सुरजनसर में तीस, जालपसर में पंद्रह, लखासर में तीस, धोलिया में बारह मकान धराशायी हो गए हैं। श्रीडूंगरगढ़ शहर और जालपसर में दो जगह बिजली गिरी। शुक्र है यहां जनहानि नहीं हुई लेकिन बिजली के उपकरण गिरने से आर्थिक नुकसान हुआ।

बीकानेर के शेरेरां गांव व आसपास के गांवों में भी काफी नुकसान हुआ है।
बीकानेर के शेरेरां गांव व आसपास के गांवों में भी काफी नुकसान हुआ है।

नोखा के काकड़ा में नुकसान

बारिश से नोखा के काकड़ा में एक मकान गिर गया। वहीं आसपास के कुछ गांवों में कच्चे मकान गिरने की सूचना है। जसरासर में बिजली गिरने से एक घर में बिजली के उपकरण जल गए। नोखा में बारिश जबर्दस्त हुई लेकिन नुकसान के मामले में हालात यहां ज्यादा खराब नहीं हुए।

खबरें और भी हैं...