राज्य स्तरीय स्कूली शतरंज शुरू:तीस जिलों के पांच सौ से ज्यादा खिलाड़ी बीकानेर में लड़ा रहे हैं मोहरे

बीकानेर3 महीने पहले

राजस्थान के स्कूल्स में पहली बार शामिल किए गए शतरंज खेल के प्रति जबर्दस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। बीकानेर में आयोजित हो रही राज्य स्तरीय स्कूली शतरंज प्रतियोगिता में प्रदेश के 31 जिलों के पांच सौ से ज्यादा लड़के लड़कियां हिस्सा ले रहे हैं। पहले दिन दो राउंड के मुकाबले हुए, जबकि दूसरे दिन मंगलवार को तीन राउंड के मुकाबले होने वाले हैं।

बीकानेर के पुष्करणा भवन में आयोजित राज्य स्तरीय शतरंज में सत्रह व उन्नीस वर्ष आयुवर्ग के लड़के और लड़कियों के मुकाबले हो रहे हैं। प्रदेश के झालावाड़, धौलपुर और प्रतापगढ़ के अलावा सभी जिलों के लड़के और लड़कियां हिस्सा ले रहे हैं। प्रदेश के सभी जिलों से आ रहे खिलाड़ियों के रहने की व्यवस्था पुष्करणा भवन, बजरंग भवन, पाराशर भवन और महेश भवन के अलावा मुरलीधर व्यास कॉलोनी स्थित महात्मा गांधी सीनियर सैकंडरी में की गई है। पहले दिन हुए मुकाबलों में सभी जिलों के खिलाड़ियों का ड्रा निकाला गया। इसके बाद दो-दो घंटे के मुकाबले हुए। कुछ खिलाड़ियों के बीच दो घंटे से ज्यादा मुकाबला चला तो वॉच के माध्यम से दस दस मिनट अतिरिक्त दिए गए।

पहली बार स्कूली शतरंज

स्कूल स्तर पर पहली बार शतरंज प्रतियोगिता हो रही है। ऐसे में उम्मीद नहीं थी कि पांच सौ से ज्यादा खिलाड़ी आ जाएंगे। अति उत्साह में राज्य के 33 में से 31 जिलों खिलाड़ी पूरी टीम के साथ बीकानेर आए हैं। सात राउंड में होने वाली ये प्रतियोगिता बुधवार को खत्म होगी। विजेताओं को सोलह नवम्बर के समारोह में सम्मानित किया जाएगा। सोमवार को उद्घाटन सत्र में राजस्थान शतरंज संघ के एस.एल. हर्ष, जस्टिस महेश शर्मा, शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक अरविन्द व्यास, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक सुरेंद्र सिंह भाटी, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील बोड़ा, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी (शारीरिक शिक्षा) अनिल बोड़ा भी उपस्थित रहे।