पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आज सर्दी भी इक्कीसी:कड़ाके की सर्दी के बीच आया नया साल; चूरू राज्य में सबसे ठंडा, बीकानेर में 4.8 तक गिरा पारा

बीकानेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीकानेर के कीकाणी व्यासों के चौक में सर्दी से बचने के लिए धूणी (अलाव) का सहारा लेते युवक - Dainik Bhaskar
बीकानेर के कीकाणी व्यासों के चौक में सर्दी से बचने के लिए धूणी (अलाव) का सहारा लेते युवक

हर बार की तरह बीकानेर संभाग में नए साल का पहला दिन काफी ठंडा रहा। चूरू में तो पारा -1.2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है, जबकि बीकानेर में 4.8 डिग्री सेल्सियस तक रहा। बीकानेर में अब भी शीतलहर जैसे हालात है लेकिन कोहरा फिलहाल नजर नहीं आ रहा, ऐसे में सुबह साढ़े सात बजे सूर्य दर्शन हो रहे हैं। उधर, मौसम विभाग ने बीकानेर संभाग में चार जनवरी को तेज ओलावृष्टि व बारिश की चेतावनी दी है।

रात में चूरू का पारा सबसे कम रहा है लेकिन दिन की सर्दी बीकानेर संभाग में कमोबेश एक जैसी है। चूरू में अधिकतम तापमान 18.7, बीकानेर में 18.8 और श्रीगंगानगर में 19.9 डिग्री सेल्सियस रहा। ऐसे में दिन की सर्दी संभाग के तीनों जिलों में कमोबेश एक जैसी है। हनुमानगढ़ में भी तापमान श्रीगंगानगर जितना ही रहा। श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में न्यूनतम तापमान बीकानेर की तुलना में कम रहा। श्रीगंगानगर में यह 2.4 डिग्री सेल्सियस था।

संभाग के चारों जिलों में चार जनवरी को मेघ गर्जन के साथ ओलावृष्टि के साथ ही हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। अगर बारिश होती है तो श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में फसलों को भारी नुकसान हो सकता है। पाला पड़ने की स्थिति में भी फसल को नुकसान होता है।

परकोटे में अलाव का दौर शुरू

जिला प्रशासन की ओर से रात में बाहर निकलना मना है लेकिन बीकानेर के परकोटे में लोग अब धूणी (अलाव) के सहारे वक्त गुजारना शुरू कर चुके हैं। शहर के कई मोहल्लों में तो बाकायदा पूजन के बाद धूणी शुरू होती है, जो फरवरी तक अनवरत जारी रहती है। वहीं अब कॉलोनियों में भी लोगों ने धूणी लगाने का सिलसिला शुरू कर दिया है। जयनारायण व्यास कॉलोनी व मुरलीधर व्यास कॉलोनी में लोग रात में घर के बाहर धूणी पर तपते नजर आ जाते हैं।