बीकानेर से रेल फिर शुरू:अब अजमेर, भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ होते हुए इंदौर तक कर सकेंगे बीकानेर से रेल यात्रा

बीकानेर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोनाकाल से पहले यह गाड़ी कुछ महीने के लिए चली लेकिन बाद में बंद कर दी गई थी - Dainik Bhaskar
कोरोनाकाल से पहले यह गाड़ी कुछ महीने के लिए चली लेकिन बाद में बंद कर दी गई थी

बीकानेर से इंदौर के लिए एक बार फिर महामना एक्सप्रेस शुरू हो रही है। कोरोनाकाल से पहले यह रेल कुछ समय के लिए चली थी लेकिन बाद में बंद कर दी गई। अब 27 फरवरी से यह रेल सेवा शुरू होगी। इसी के साथ बीकानेर से चूरू, सीकर, अजमेर, भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ के लिए भी रेल सेवा पुन: शुरू हो जायेगी।

रेलवे ने हाल ही में जारी अपने कार्यक्रम में महामना एक्सप्रेस को जगह दे दी है। यह रेल 27 फरवरी को सुबह साढ़े आठ बजे रवाना होगी और 28 फरवरी को बीकानेर से दोपहर डेढ़ बजे इंदौर के लिए निकलेगी। बीकानेर से इसका रूट श्रीडूंगरगढ़, रतनगढ़, चूरू, फतेहपुर, सीकर, रींगस, रेनवाल, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, नीमच, मंदसौर, रतलाम, बड़नगर, फतेहाबाद होते हुए इंदौर होगा। इसी रूट से यह रेल वापस बीकानेर के लिए आयेगी। वेस्टर्न रेलवे ने शुक्रवार को ही इस रेल को पुन: शुरू करने की स्वीकृति दे दी थी।

इतने कोच रहेंगे

बीकानेर और इंदौर से इस रेल में सैकंड एसी का एक, थर्ड एसी के तीन, स्लीपर के आठ, सैकंड सीटिंग के चार डिब्बे होंगे। इस गाड़ी में फर्स्ट एसी को कोई डिब्बा नहीं होगा।

लंबी दूरी की इन गाड़ियों के शुरू होने का इंतजार

मार्च में कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन से बीकानेर में कई गाड़ियों के पहिये थम गए थे। इनमें कुछ शुरू हो गई लेकिन कुछ अभी बंद है। बंद गाड़ियों में लालगढ़ से जैसलमेर, बीकानेर से जयपुर इंटरसिटी (लीलण एक्सप्रेस), बीकानेर से हरिद्वार वाया रतनगढ़, लालगढ़ से भटिंडा, बीकानेर से गोवाहटी भी बंद है। वहीं लालगढ़ से डिबरुगढ़ (अवध आसाम एक्सप्रेस) शुरू तो हुई लेकिन रास्ते में फोग अधिक होने के कारण इसे फिर से बंद कर दिया गया। जो अभी बंद है।