एजुकेशन:16 लाख स्टूडेंट्स के फर्स्ट टेस्ट के नंबर ऑनलाइन नहीं, 30 तक मोहलत दी

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नए शिक्षा सत्र 2021-22 को लेकर पहली से 12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स की ऑफलाइन क्लास से शुरू हो चुकी है। कोरोना काल में प्रभावित हुई शिक्षण व्यवस्था को सुचारू करने के लिए शिक्षा विभाग ने आगामी तीन माह की कार्ययोजना जारी कर दी है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बुधवार को एजुकेशन डायरेक्टर सौरभ स्वामी ने इस कार्य योजना को लेकर राज्य के सभी शिक्षा अधिकारियों से ऑनलाइन संवाद किया।

उन्होंने बताया कि अब हर शिक्षक को शिक्षा विभाग की शिवरा पत्रिका लेनी होगी। डायरेक्टर ने कहा कि शिविरा पत्रिका में टीचर और स्टूडेंट्स के लिए इंपॉर्टेंट आलेख होते हैं। वही विभाग के अधिकांश ऑर्डर की जानकारी भी होती है। जो स्कूल के दैनिक संचालन और विभागीय गतिविधियों की जानकारी के लिए उपयोगी है। इसलिए जरूरी है कि प्रत्येक स्कूल को शिविरा का सदस्य बनना है।

डायरेक्टर ने इसी महीने हुए फर्स्ट टेस्ट के नंबरों को भी ऑनलाइन करने के निर्देश दिए। 82% स्टूडेंट्स के नंबर शाला दर्पण पोर्टल पर ऑनलाइन किए जा चुके हैं। जबकि 18% यानी राज्य के करीब 16 लाख स्टूडेंट्स के फर्स्ट टेस्ट के नंबर अभी ऑनलाइन नहीं हुए हैं। शिक्षकों को यह काम 30 सितंबर तक पूरा करना होगा।

स्कूलों में हुई पीटीएम : उधर, बुधवार को सभी स्कूलों में पेरेंट्स टीचर मीटिंग हुई। टीचर्स ने अभिभावकों को आगामी 3 माह की कार्य योजना से रूबरू करवाया। कोविड-19 की गाइडलाइन को लेकर भी चर्चा हुई। पेरेंट्स में क्लास में बच्चों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने का सुझाव दिया। उधर, शिक्षकों ने बताया कि अगले महिने सेकंड टेस्ट होंगे। जिसके लिए स्टूडेंट्स को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से स्टडी मेटेरियल उपलब्ध कराया जा रहा है। जो बच्चे स्कूल नहीं आ रहे हैं उन्हें पहले की तरह ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...