हौसला मिलेगा:एक दिन की कुलपति ने कहा- इस तरह के निर्णय से महिलाओं का हौसला बढ़ेगा, शिक्षा के प्रति जागरुकता बढ़ेगी

बीकानेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुलपति की सीट पर एक दिन की वीसी सुमन स्वामी ने पत्रकारों से बातचीत की। - Dainik Bhaskar
कुलपति की सीट पर एक दिन की वीसी सुमन स्वामी ने पत्रकारों से बातचीत की।

बीकानेर के महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय में एक दिन की कुलपति बनने के बाद सुमन स्वामी सोमवार सुबह कुलपति की सीट पर बैठी। न सिर्फ सीट पर बैठी बल्कि कई तरह की फाइलों का निपटारा भी किया। राज्यपाल कलराज मिश्र से मिली विशेष स्वीकृति के बाद विश्वविद्यालय ने यह नवाचार किया।

दरअसल, सुमन स्वामी वर्ष 2018 की गोल्ड मेडलिस्ट है। महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सुमन का चयन स्वयं कुलपति ने किया था। उन्होंने ही राज्यपाल व कुलाधिपति कलराज मिश्र को इस संबंध में प्रस्ताव भेजे थे, जिसे स्वीकृति मिल गई। हालांकि जिस तरह की तैयारी इस आयोजन को लेकर की गई थी, वैसा नहीं हो पाया। कारण था पूर्व राज्यपाल अंशुमान सिंह का निधन। पहले एक दिन की कुलपति सुमन स्वामी के स्वागत में काफी कार्यक्रम होने थे, उन्हें एक एक अनुभाग में जाकर निरीक्षण करना था। लेकिन अंशुमान सिंह के निधन के कारण कार्यक्रम को काफी छोटा कर दिया गया। वो कुलपति आवास पहुंची, जहां से कुलपति की कार में ही विश्वविद्यालय में कुलपति सचिवालय आई। यहां उनका सामान्य रूप से स्वागत किया गया।

बाद में कुलपति के रूप में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सुमन ने कहा कि इस तरह के निर्णय से महिलाओं में पढ़ने की ललक बढ़ेगी। कुलपति स्वामी ने विश्वविद्यालय के माध्यम से महिला शिक्षा को बढ़ावा देने और जागरुकता बढ़ाने की आवश्यकता जताई। विश्वविद्यालय के कुलपति विनोद कुमार ने कहा कि महिलाओं को स्वयं आगे आना होगा। शिक्षा इसका सबसे बड़ा माध्यम है।

खबरें और भी हैं...