पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • One More Death In Bikaner, Three New Cases, Now Serious Patients Are Coming Every Day, Good News That Alertness Has Increased

ब्लैक फंगस का कहर:बीकानेर में एक और मौत, तीन नए केस, अब हर रोज आ रहे हैं गंभीर रोगी; अच्छी खबर कि सतर्कता बढ़ गई

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीबीएम अस्पताल में ब्लैक फंगस - Dainik Bhaskar
पीबीएम अस्पताल में ब्लैक फंगस

बीकानेर ने ब्लैक फंगस की चपेट में आने वालों की संख्या बढ़कर अब तीस तक पहुंच गई है, वहीं इस भयावह रोग से छठी मौत भी हाे गई है। रविवार को चूरू के सरदारशहर की एक महिला ने ब्लैक फंगस के कारण दम तोड़ा है। उधर, एक अच्छी खबर यह है कि जागरुकता बढ़ने से रोगी पहली स्टेज में ही अस्पताल तक पहुंच रहे हैं, जिन्हें बचाने की कोशिश हो रही है।

अस्पताल के डॉ. गौरव गुप्ता ने बताया कि एक और महिला 61 वर्षीय तुलसी देवी ने रविवार शाम करीब छह बजे दम तोड़ दिया। इस महिला को रविवार को ही वार्ड में भर्ती किया गया था। उसके दिमाग तक फंगस पहुंच चुका था। ऐसे में उसे बचाने के प्रयास सफल नहीं हो सके। इसके साथ ही बीकानेर में ब्लैक फंगस के कारण दम तोड़ने वाले रोगियों की संख्या बढ़कर अब 6 हो गई है। उधर, तीन नए रोगी भर्ती किए गए हैं। डॉ. गुप्ता कहना है कि अच्छी बात है कि अब वो रोगी भी वार्ड में पहुंच रहे हैं जिनके ब्लैक फंगस की पहली स्टेज है। इनका ऑपरेशन जल्द ही किया जायेगा।बीकानेर में अब तक तीस रोगी पहुंचे हैं जिसमें छह की मौत के साथ ही अब 24 रोगी भर्ती है। इस संख्या में अभी इजाफा होने वाला है क्योंकि कई रोगियों की जांच रिपोर्ट एक दो दिन में आयेगी। प्रथम दृष्ट्या इन्हें भी ब्लैक फंगस लग रहा है। ऐसे चार पांच रोगी भी पी वार्ड में भर्ती है।

सावधानी की जरूरत, लंबा चलेगा इलाज

डॉ. गुप्ता ने बताया कि जिन लोगों को ब्लैक फंगस हुआ है, उन्हें फिलहाल ऑपरेशन के बाद इंजेक्शन दिए जा रहे हैं। इसके बाद दवा के रूप में इन्हें कई महीनों तक एंटीफंगल दवाएं दी जाएगी। कई बार रोगी में यह फंगस वापस अपना असर दिखाना शुरू कर देता है। थोड़ी सी लापरवाही जानलेवा हो सकती है। ऐसे में जो रोगी अपनी जान बचा चुके हैं, उन्हें आगे भी सावधान रहने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...