पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हैल्थ डिपार्टमेंट पटरी पर:पीबीएम में ओपीडी, रूटीन ऑपरेशन शुरू, एक दिन में 104 सर्जरी हुई

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सर्जरी के बाद पीबीएम के पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में मरीज फुल हो गए। पहले यहां कोविड मरीज भर्ती थे। - Dainik Bhaskar
सर्जरी के बाद पीबीएम के पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में मरीज फुल हो गए। पहले यहां कोविड मरीज भर्ती थे।
  • कोविड के अलावा 18 विभागों के आउटडोर में 3689 मरीज पहुंचे, 343 को भर्ती किया, 37 मेजर सर्जरी

पीबीएम हॉस्पिटल में फिर आउटडोर और जनरल सर्जरी शुरू हो गई। जिस हॉस्पिटल के 900 बेड पर महज कोविड, पोस्ट कोविड रोगी मौजूद थे। इमरजेंसी को छोड़ सारे ऑपरेशन बंद और आपातकालीन को छोड़ बाकी आउटडोर लगभग बंद हो चुके थे वहां अब फिर से मरीजों की कतार लग गई है।

शुक्रवार को हॉस्पिटल के विभिन्न विभागों के 18 आउटडोर में 3689 मरीज अपनी बीमारी दिखाने पहुंचे। इनमें जनाना, हार्ट, टीबी, ईएनटी, मेडिसिन आदि विभाग शामिल हैं। इतना ही नहीं कोविड से सभी वार्ड खाली करवाकर मूल विभागों को सौंपने के बाद अब दूसरे रोगी भी भर्ती हो रहे हैं। शुक्रवार को भर्ती मरीजों की संख्या 343 हो गई।

इन सबसे आगे सुखद बात यह है कि एक-एक साल से इंतजार कर रहे मरीज अब सर्जरी के लिए भी आने लगे है। एक दिन में 104 सर्जरी इसका प्रमाण है। इनमें 37 मेजर सर्जरी शामिल है।

पीबीएम हॉस्पिटल का एक दिन का यह डाटा इस लिहाज से सुकूनभरा है क्योकि अब उन मरीजों की पूरी देखभाल हो सकेगी जो लंबे समय से किसी न किसी रोग से पीड़ित हैं लेकिन पूरा इलाज नहीं ले पा रहे हैं। मोटे तौर पर देखें तो मार्च 2020 से अब तक लगभग तीन महीने ही ऐसे रहे हैं जब सभी मरीजों के लिए सभी आउटडोर-ओटी खुले रहे हैं।

हालांकि सर्जरी-इलाज होता रहा लेकिन डर के मारे सिर्फ गंभीर और इमजरेंसी वाले रोगी ही पीबीएम हॉस्पिटल पहुंचे। सर्जन डॉ.मनोहर दवां कहते हैं, शनिवार को जिन मरीजों की सर्जरी प्रस्तावित हैं उनमें दो ऐसे रोगी हैं जिनके कैंसर की गांठ काफी बड़ी हो चुकी है। इसके अलावा, पाइल्स, हर्निया आदि बीमारियों से पीड़ित रोगी इस दौर में तभी आए जब इमरजेंसी हुई।

वेटिंग लिस्ट तो लंबी हो सकती है लेकिन अब भी वे ही लोग सर्जरी के लिए आ रहे हैं जिन्हें बहुत जरूरी लग रहा है। इसके बावजूद हर दिन 30 से 40 जनरल सर्जरी होने लगी है। पोस्ट आपरेटिव वार्ड, आईसीयू भरे हैं।
-डॉ.मोहम्मद सलीम, सीनियर प्रोफेसर सर्जरी

कोविड के रोगी अभी एमसीएच विंग में हैं। इसके अलावा फंगस के लिए दो वार्ड तय हैं। मेडिसिन सहित सभी आउटडोर, इनडोर, सर्जरी चालू कर दी है। जो-जो दिक्कतें, जरूरत सामने आ रही हैं उनका समाधान कर रहे हैं।
-डॉ.परमेन्द्र सिरोही, सुपरिटेंडेंट पीबीएम हॉस्पिटल

खबरें और भी हैं...