पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Passed 50 Thousand Students Of First Year Course, But The Certificate Stuck Due To Not Scoring The Mathematics Of Average Marks

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एमजीएस विवि का मामला:फर्स्ट ईयर कोर्स के 50 हजार स्टूडेंट्स को पास तो कर दिया लेकिन औसत अंक की गणित नहीं बैठने से अटका सर्टिफिकेट

बीकानेर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के कारण नहीं हुई थी परीक्षा, अब 12 को एकेडमिक काउंसिल खोजेगी रास्ता

कोरोना काल में पिछले साल बिना परीक्षा स्टूडेंट्स को क्रमोन्नत करने का निर्णय हुआ था। इसी क्रम में महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी ने स्नातक के सभी स्टूडेंट्स को तो क्रमोन्नत सर्टिफिकेट तो जारी कर दिए लेकिन स्नातकोत्तर और बीपीएड-एमपीएड के करीब 50 हजार स्टूडेंट्स के सर्टिफिकेट अटके हुए हैं।

दरअसल स्नातक के थ्री ईयर कोर्सेस में दो साल के अंकों का औसत निकाल कर स्टूडेंट्स को क्रमोन्नत किया जा रहा है लेकिन पीजी के प्रथम वर्ष के छात्रों को किस नीति के तहत अंक दिए जाएं क्योंकि पीजी प्रथम वर्ष में वे पहली बार परीक्षा देने वाले थे। इस वजह से तमाम विषयों के एमए, एमएससी, बीपीएड, एमपीएड के छात्राें को अब तक पदोन्नति प्रमाण पत्र नहीं मिला जबकि छात्रों ने पदोन्नति निर्णय के बाद दूसरे वर्ष की भी ऑनलाइन-ऑफलाइन पढ़ाई आधे से ज्यादा कर दी है।

खबर है कि विवि पर इसका दबाव बन रहा है कि पीजी व बीपीएड-एमपीएड के छात्रों को पदोन्नति के लिए विवि एकेडमिक काउंसिल में प्रस्ताव लेकर आएगा। उसमें नीति तय होगी कि आखिर इन छात्रों को किस आधार पर क्रमोन्नति किया जाए। क्रमोन्नत होने के वाले छात्र सत्र 2013-2020 के हैं।

सर्टिफिकेट नहीं मिलने से इंटर्नशिप और छात्रवृत्ति भी अटकी
नियमों के तहत शिक्षक शिक्षा प्रथम वर्ष के छात्र 24 दिन व दूसरे वर्ष के 96 दिन की इंटर्नशिप करते हैं। कोरोना के कारण इंटर्नशिप भी नहीं हो पाई। सरकार ने इस पर अभी तक कोई नीतिगत निर्णय नहीं किया। छात्र इस बात को लेकर चिंतित है कि उनकी इंटर्नशिप होगी भी या नहीं। क्रमोन्नति सर्टीफिकेट के अभाव में सामाजिक न्या एवं आधिकारिता विभाग की ओर से मिलने वाली छात्रवृत्ति भी अटक गई। परेशानी ये भी है कि 20 जून को रीट की परीक्षा प्रस्तावित है।

लेकिन वर्तमान सत्र में जुड़े प्रशिक्षाणार्थी पदोन्नति प्रमाण पत्र व अंक तालिका के अभाव में रीट की परीक्षा में सफल होने के बाद भी उनके डर बना हुआ है। विषय से जुड़े डॉ.राजेन्द्र श्रीमाली का कहना है कि रीट परीक्षा में सफल होने के बाद भी बिना अंकतालिका और क्रमोन्नति सर्टीफिकेट से वे शिक्षक नहीं बन पाएंगे।

स्नातक के सभी पदोन्नति सर्टीफिकेट जारी किए जा चुके हैं। दो और तीन वर्षीय पाठयक्रम में थोड़ी ये दिक्कत आ रही कि आखिर एमए में जो छात्र पहली बार परीक्षा देने वाला था और नहीं दे पाया तो उसे कौन से औसत अंकों के आधार अंकतालिका दें। एकेडमिक काउंसिल में मामला जा रहा है। वहां से ही नीति तय होगी।
जसवंत खीचड़, परीक्षा नियंत्रक, एमजीएस विवि

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें