पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Poonamchand Told The Collector – Doctors Are Pressurizing To Withdraw The Complaint, Case Of Wrong Dose Of Vaccine In Panchu CHC

भास्कर इम्पैक्ट:पूनमचंद ने कलेक्टर से कहा- डॉक्टर्स शिकायत वापस लेने का दबाव दे रहे हैं, पांचू सीएचसी में वैक्सीन की गलत डोज लगाने का मामला

बीकानेर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीबीएम में भर्ती पूनमचंद। - Dainik Bhaskar
पीबीएम में भर्ती पूनमचंद।

वैक्सीन की गलत डोज लगने से बीमार नोखा के पूनमचंद पचार को पीबीएम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी पूरी जांच की जाएगी। डॉक्टर्स की टीम यह पता लगाएगी कि वैक्सीन के कारण उसके शरीर में किस तरह के परिवर्तन आ रहे हैं। इसका कोई दुष्प्रभाव तो नहीं है।

नोखा निवासी पूनमचंद मंगलवार को कलेक्टर नमित मेहता से मिले। उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य केंद्र पर हुई गफलत की पूरी जानकारी दी। वैक्सीन की दो अलग-अलग डोज लगाने के बाद जारी किए सर्टिफिकेट दिखाते हुए बताया कि शिकायत वापस लेने को कहा जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

कलेक्टर से मिलने के बाद पूनमचंद सीएमएचओ के पास पहुंचे। जहां से आरसीएचओ डॉ. राजेश गुप्ता उन्हें पीबीएम हॉस्पिटल ले गए। कोविड टीककारण के बाद उसके दुष्प्रभाव का इलाज के लिए गठित कमेटी के सदस्य डॉ. रोहिताश्व कुलरिया ने पूनमचंद के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। उनका बीपी हाई था। पूनमचंद को मिडिसिन विभाग के ई वार्ड में भर्ती किया गया है। बुधवार को उनकी सभी तरह की जांचें कराई जाएंगी। गौरतलब है कि दैनिक भास्कर ने इस मामले को मंगलवार के अंक में प्रमुखता से उठाया। उसके बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया है।

पूनमचंद को ईलाज के लिए पीबीएम हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जॉइंट डायरेक्टर हैल्थ ने मामले की जांच के लिए बनाई कमेटी

कोविड टीकाकरण के बाद उसके प्रभाव की जांच के लिए गठित कमेटी की देखरेख में पूनमचंद का ईलाज किया जा रहा है। उसके स्वास्थ्य की पूरी जांच की जाएगी। वैक्सीन की गलत डोज लगाने की जांच के लिए कमेटी बना दी गई है।
डॉ. देवेन्द्र चौधरी, जॉइंट डायरेक्टर हैल्थ

क्या था मामला

नोखा के पूनमचंद पचार के पहली डोज कोवेक्सीन और दूसरी कोविशील्ड की लगा दी गई थी। उनके नौ जुलाई को दूसरी डोज लगी। शाम को थकान और दर्द का अहसास हुआ। हल्का बुखार भी था। शरीर पर खुजली होने लगी तो शर्ट खोलकर देखा पेट से लेकर गाल तक लाल रंग के चकत्ते और गांठें उभरी हुई थीं। उन्होंने वैक्सीन की डोज गलत लगाने की शिकायत संपर्क पोर्टर पर की। उसके बाद से ही पूनमचंद पर शिकायत वापस उठाने के लिए दबाव डाला जा रहा था।

एडिशनल कमिश्नर ने जॉइंट डायरेक्ट और सीएमएचओ को किया तलब

पांचू सीएचसी पर पूनमचंद पचार के वैक्सीन की गलत डोज लगाने के मामले में अतिरिक्त संभागीय आयुक्त सुनीता चौधरी ने जॉइंट डायरेक्टर और सीएमएचओ को तलब कर लिया। पूनमचंद शाम को अतिरिक्त संभागीय आयुक्त से मिले और घटनाक्रम की जानकारी दी। सुनीता चौधरी ने जॉइंट डायरेक्टर डॉ. देवेंद्र चौधरी और सीएमएचओ को कार्यालय बुलाया। दोनों स्वास्थ्य अधिकारियों ने पूनमचंद के दस्तावेज देखे। अतिरिक्त संभागीय आयुक्त के निर्देश पर जॉइंट डायरेक्टर ने आरसीएचओ डॉ. राजेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में नोखा बीसीएमओ और एईएफटी सदस्य की जांच कमेटी गठित की है।

फाइनल वैक्सीनेशन के दो सर्टिफिकेट जारी कर दिए

पांचू सीएचसी पर पूनमचंद के दूसरी डोज 9 जुलाई को सुबह करीब सवा नौ बजे लगी थी। उन्होंने ऑन लाइन स्लॉट बुक करावाया था। 11.52 बजे उनके मोबाइल पर कोविशील्ड का मैसेज आया। उसके कुछ ही देर बाद स्वास्थ्य केंद्र से ऑपरेटर का फोन आया गया। उसने वैक्सीनेशन के लिए इंक्वायरी की। मोबाइल नंबर पूछे। पूनमचंद के मोबाइल पर एक और मैसेज आया, जिसमें दूसरी डोज कोवेक्सीन की लगनी बताई गई। उन्होंने ई मित्र केंद्र से दोनों के प्रिंट निकलवा कर कलेक्टर, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त और स्वास्थ्य अधिकारियों को दिए हैं।

खबरें और भी हैं...