पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्कूली शिक्षा:प्रैक्टिकल बोर्ड परीक्षा के बाद संभव, साइंस में 20 की जगह करने होंगे 10 प्रैक्टिकल्स

बीकानेर, अजमेर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अब तक जनवरी में होती आई है प्रायोगिक परीक्षा, इस साल बदल सकता है शेड्यूल। - Dainik Bhaskar
अब तक जनवरी में होती आई है प्रायोगिक परीक्षा, इस साल बदल सकता है शेड्यूल।

इस साल आरबीएसई की प्रैक्टिकल की परीक्षाएं बोर्ड के रिटन एग्जाम्स के बाद हो सकती हैं। 10वीं व 12वीं बोर्ड परीक्षा में इस साल 21 लाख से अधिक छात्र बैठेंगे। बोर्ड की मुख्य परीक्षाएं इस बार मई में होंगी। वहीं 12वीं क्लास के 4 लाख स्टूडेंट्स की प्रायोगिक परीक्षा मुख्य परीक्षा के बाद होने की संभावनाएं हैं। ये परीक्षाएं अब तक जनवरी में होती आई हैं।

इसके अलावा बोर्ड मुख्य परीक्षा में सवाल के ऑप्शन बढ़ाने पर भी विचार कर रहा है। यानि पहले छात्र च्वाइस के आधार पर दो में से कोई एक सवाल करता था। अब दो की जगह तीन सवालों के ऑप्शन छात्रों को दिए जा सकते हैं। शिक्षा विभाग ने बोर्ड परीक्षाओं के सिलेबस में 40% कटौती के साथ ही प्रैक्टिकल में भी 50% की कटौती की है।

साइंस के स्टूडेंट्स को इस बार 20 की जगह 10 प्रैक्टिकल करने होंगे। शिक्षा विभाग ने कोरोना के चलते नंबर पैटर्न में बदलाव किया है। प्रायोगिक परीक्षा में स्टूडेंट्स को 15 अंक प्रैक्टिकल और 15 अंक प्रैक्टिकल रिकॉर्ड के आधार पर मिलेंगे। पिछली बार 20 अंक प्रैक्टिकल और 5 अंक वाइवा व 5 अंक रिकॉर्ड के आधार पर मिले थे।

आटर्स में भूगोल के स्टूडेंट्स को तीन की जगह दो प्रैक्टिकल करने होंगे। प्रैक्टिकल एग्जाम मुख्य परीक्षा के बाद होने से छात्रों की पढ़ाई भी प्रभावित नहीं होगी। 9 महीने के बाद 18 जनवरी से 9वीं से 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल खुल रहे हैं। सभी प्रिंसिपल्स को परीक्षाओं का पाठ्यक्रम 15 मई तक पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।

इस बार पिछली बार से 42 हजार छात्र अधिक
पिछली बार 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में 20.48 लाख स्टूडेंट्स बैठे थे। इस बार परीक्षार्थी करीब 42 हजार अधिक हैं। अभी भी फॉर्म फिलिंग जारी है। इसकी आखिरी तारीख 18 जनवरी है। ऐसे में आवेदन करने वालों की संख्या और भी बढ़ सकती है। दरअसल, 9वीं और 11वीं कक्षा के सभी स्टूडेंट्स को पास करने से बोर्ड परीक्षा में इस बार अभ्यर्थियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

इस साल होम एग्जाम जून महीने में संभावित
कक्षा 1 से 9 और 11वी कक्षा की परीक्षा जून से शुरू हो सकती है। माना जा रहा है कि शिक्षा विभाग एक जुलाई से फिर से नया सत्र शुरू करने की कोशिश में है, ताकि शिक्षा सत्र 2021-22 पर कोविड का प्रभाव न रहे। इसीलिए पाठ्यक्रम भी कम कर दिया गया है।

एग्जाम के एक माह के बाद जारी होगा परिणाम
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एग्जाम होने के एक माह बाद ही परिणाम जारी कर देगा। वहीं छोटे सवालों के स्वरूप में भी बदलाव किया जाएगा। आने वाले दिनों में स्थितियों को देखते हुए बोर्ड कुछ अन्य बदलाव भी कर सकता है।

सवालों के अधिक ऑप्शन मिल सकते हैं

^प्रायोगिक परीक्षा के समय को लेकर मंथन चल रहा है। प्रश्नों के अधिक विकल्प दिए जाने पर लगातार चर्चा की जा रही है। जल्द ही पूरी स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी। बोर्ड की कोशिश रहेगी कि प्रैक्टिकल एग्जाम 15 दिनों में ही पूरे करवा दिए जाएं।
-डॉ. डीपी जारौली, अध्यक्ष, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड

^अगर प्रायोगिक परीक्षा मुख्य परीक्षा के बाद में होती है तो छात्रों को पढ़ाई के लिए ज्यादा समय मिल पाएगा। हालांकि अभी तक फाइनल निर्णय नहीं हुआ है। लेकिन ऐसा करने से छात्रों को काफी फायदा मिलेगा।
-विपिन जैन, व्याख्याता, भौतिक विज्ञान

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser