डेढ़ कराेड़ की निविदा जारी:जोधपुर बाईपास से एमआरएफ प्लांट तक बनेगी पक्की सड़क, जाेड़बीड़ भैरूंजी मंदिर के श्रद्धालुओं काे मिलेगा सुगम रास्ता

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जाेधपुर बाईपास से जोड़बीड़ भैरूंजी मंदिर तक पहुंचने की राह अब आसान हो जाएगी। - Dainik Bhaskar
जाेधपुर बाईपास से जोड़बीड़ भैरूंजी मंदिर तक पहुंचने की राह अब आसान हो जाएगी।

जाेधपुर बाईपास से जोड़बीड़ भैरूंजी मंदिर तक पहुंचने की राह अब आसान हा़े जाएगी। नगर निगम ने करीब तीन किलोमीटर लंबे इस कच्चे मार्ग पर सड़क बनाने का निर्णय लिया है। निगम का डंपिंग यार्ड यहीं पर हाेने के कारण राेजाना ऑटाे टीपर, ट्रेक्टर फर लाेडर इस मार्ग पर आते हैं। इसके अलावा मंदिर में श्रद्धालु भी काफी संख्या में आते हैं। सड़क बनने से इन सभी काे राहत मिलेगी।

दरअसल अमृत योजना के तहत पहले 140 कराेड़ रुपए की लागत से 20 एमएलडी का सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट,डंपिग यार्ड, वेइंग ब्रिज तथा डेढ़ कराेड़ रुपए की लागत से एमआरएफ सेंटर बन रहा है। निगम डंपिंग यार्ड की चारदीवारी का भी निर्माण करवा रहा है जो प्रगति पर है। एमआरएफ सेंटर से डंपिंग यार्ड तक चारदीवारी बनने से कचरा रास्तें में नहीं आएगा। डंपिंग यार्ड को व्यवस्थित करने के लिए पोकलेन मशीन भी लगाई गई हैं। निगम प्रशासन का मानना है कि चारदीवारी बनने से यहां गोवंश का आना जाना कम हो जाएगा।

एमआरएफ सेंटर शुरू होने तक छंटाई और कचरा निस्तारण के लिए भी निगम ने टेंंडर कर दिया है। जिससे निगम को 13 लाख 57 हजार की आय हाेगी। मेयर सुशीला कंवर का कहना है कि ये काफी व्यस्त हाे गया है। ट्रेफिक ज्यादा होने से डंपिंग यार्ड तक आने वाले वाहनों से कीचड़ हो जाता है। बारिश के दिनों में ज्यादा दिक्कत होती है। इसी को देखते हुए सड़क निर्माण का निर्णय लिया गया।

खबरें और भी हैं...