पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वारदात:पंकज हत्याकांड में गुठली गैंग के 3 अपराधियाें पर शक

बीकानेर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक लड़की के कारण हुई थी हत्याराें और पुखराज में रंजिश, पुखराज पर गाेली चलाई जाे पंकज काे लगी थी

पंकज हत्याकांड में गुठली गैंग के अपराधियाें का हाथ सामने आया है। पुलिस काे इस गैंग के सरगना और उसके दाे साथियाें पर शक है जिसकी जांच पेंडिंग थी, लेकिन इस दाैरान मामले की फाइल सीआईडी सीबी काे थमा दी गई।

‘भास्कर’ ने पंकज हत्याकांड की गहराई से पड़ताल की ताे उजागर हुआ कि एक लड़की के कारण पुखराज और गुठली गैंग के अपराधियाें में रंजिश हुई थी जिसका शिकार 14 का साल का मासूम पंकज बना। पुखराज एक स्कूली छात्रा का पीछा करता था। वहीं स्कूल के पास बालकिशन, शिवशंकर और विष्णु बिश्नाेई भी चक्कर लगाते रहते थे।

ये तीनाें सुभाषपुरा निवासी राजूसिंह की गुठली गैंग के सदस्य हैं। पुखराज अक्सर विष्णु की गली में उसके घर के आगे से गुजरता था। इससे इन लाेगाें में रंजिश रहने लगी। राजूसिंह की शह पर पुखराज काे ठिकाने लगाने की याेजना बनाई गई। वारदात को अंजाम देने से पहले विष्णु और सुभाष बिश्नाेई से रैकी करवाई गई।

पिछले साल 25 अगस्त काे बालकिशन भाट और शिवशंकर गाेदारा ने जस्सूसर गेट क्षेत्र में फायरिंग की। ऑटाे रिपेयरिंग की दुकान पर खड़ा पुखराज तो बच गया, लेकिन उसी दुकान पर खड़े 14 साल के पंकज काे गाेली लगने से उसकी माैत हाे गई थी। नयाशहर थाना पुलिस ने पूरे घटनाक्रम में राजूसिंह, विष्णु और सुभाष का भी हाथ माना और उनके खिलाफ जांच पेंडिंग रखते हुए बालकिशन और शिवशंकर के खिलाफ काेर्ट में चालान पेश कर दिया। उनके खिलाफ जांच से पहले ही अनुसंधान अधिकारी फूलचंद शर्मा काे हटा दिया गया और जांच सीआईडी सीबी के पास चली गई।

अपराधियाें काे संरक्षण ताे नहीं
पंकज हत्याकांड में बालिग अभियुक्ताें काे नाबालिग बताकर संप्रेषण गृह भेजा गया। उन्हें बालिग साबित करने वाले और हत्याकांड में गुठली गैंग के तीन अपराधियाें की भूमिका भी सामने लाने पर और उनके खिलाफ जांच करने से पहले ही अनुसंधान अधिकारी और नयाशहर एसएचओ काे थाने से हटाना, मामले की जांच सीअाईडी सीबी काे थमाना बड़ा सवाल खड़ा करता है कि अपराधियाें काे राजनीतिक या किसी रसूखदार शख्स का संरक्षण ताे नहीं?

लाचार पिता ने कहा-मेरे बेकसूर बेटे की जान ले ली, मारने वालाें काे सजा मिले
काेलायत के अंबेडकर सर्किल पर साइकिल पंक्चर की दुकान करने वाले पंकज के पिता किशन आचार्य ने बताया कि घटना से कुछ दिन पहले मेरा भांजा काेलायत आया था। बेटे पंकज ने उसके साथ अपनी भुआ के घर जाने की जिद की ताे मैंने हां कर दी। साेमवार काे सुबह पंकज रवाना हुआ था।

मंगलवार काे वह मेरे भांजे काे जस्सूसर गेट स्थित ऑटाे रिपेयरिंग की दुकान पर टिफिन देने पहुंचा। वहां बदमाशाें ने फायरिंग की और पंकज काे गाेली लगने से उसकी जान चली गई। उसका शव ही घर पहुंचा। मुझे न्याय चाहिए। मेरे बेकसूर बेटे की जान लेने वाले अपराधियाें काे सजा मिले। वे सलाखाें के पीछे रहें जिससे कि किसी और बेकसूर की जान ना ले सकें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser