पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • So Far 960, Bikaner Is Going To Become The Sixth District With A Thousand Crosses, 26 Maitens In The Fourth Position In The State

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज ज्यादा सामने आ सकते हैं राेगी:अब तक 960, एक हजार पार वाला छठा जिला बनने जा रहा बीकानेर, 26 माैतें प्रदेश में चाैथे नंबर पर

बीकानेर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वजह सिर्फ बीकानेर जिले के 2500 से ज्यादा सैंपल हुए, रिपाेर्ट मंगलवार काे, 2 माैत, 63 रोगी
  • गांवाें का रुख...नाेखा में एक साथ 10 पाॅजिटिव, इससे पहले लूणकरणसर, श्रीडूंगरगढ़ में एक साथ बड़ी संख्या पाॅजिटिव रिपाेर्ट हाे चुके

साेमवार काे दाे और ऐसे लाेगाें की माैत हाे गई जिनकी जांच रिपाेर्ट में काेविड पाॅजिटिव है। ऐसे में बीकानेर में अब तक 26 लाेगाें की जान यह बीमारी ले चुकी है। इतना ही नहीं 63 नए राेगियाें के साथ पाॅजिटिव का आंकड़ा भी 960 तक पहुंच गया।

जिस रफ्तार से राेगी बढ़ रहे हैं उससे देखते हुए लगता है कि मंगलवार तक पाॅजिटिव का आंकड़ा एक हजार काे छू लेगा या पार हाेगा। ऐसे में बीकानेर की गिनती प्रदेश के उन जिलाें में हाेने लगी है जहां बीमारी तेजी से फैल रही है। एक हजार से ज्यादा राेगियाें वाले प्रदेश में अब तक पांच जिले हैं। अब बीकानेर छठा जिला हाेने जा रहा है।

जुलाई के 13 दिन में ही 10 माैतें हाे चुकी है वहीं 625 नए राेगी सामने आए हैं। मतलब यह कि पहले तीन महीनाें में जितने राेगी रिपाेर्ट हुए उससे लगभग दाे गुना जुलाई के 13 दिनाें में ही सामने आ गए। सिर्फ पाॅजिटिव या माैताें के मामले में ही बीकानेर आगे नहीं बढ़ रहा वरन अच्छी बात यह है कि यहां जांच का काम भी तेजी से बढ़ा है। मंगलवार तक बीकानेर 40 हजार से अधिक जांच करने वाले नाै जिलाें में शामिल हाे जाएगा।

अब बढ़ते प्रकाेप काे देखते हुए बीकानेर में काेराेनामुक्ति का अभियान शुरू किया गया है। प्रशासन के इस अभियान में हर दिन दाे हजार से ज्यादा सैंपल की जांच हाेगी। साेमवार शाम तक भी दाे हजार से ज्यादा सैंपल मेडिकल काॅलेज की काेविड लैब भेजे गए। ऐसे में जाहिर है कि पाॅजिटिव राेगियाें की संख्या भी बढ़ेगी।

जुलाई के 13 दिन में 10 माैतें 625 नए राेगियाें के साथ तेजी से बीमारी बढ़ने वाले जिलाें में शुमार हाे चुका है बीकानेर 
दाे माैतें..आठ दिन से काेविड हाॅस्पिटल में भर्ती स्वामियाें के माेहल्ले में रहने वाले 71 वर्षीय व्यक्ति और छींपा माेहल्ला से मृत अवस्था में पीबीएम हाॅस्पिटल लाए गए व्यक्ति की माैत हाे गई। इसकी भी जांच रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई।
भाजपा पार्षद सहित 63 नए रोगी यहां से..
साेमवार काे रिपाेर्ट हुए 63 राेगियाें में एक भाजपा पार्षद भी शामिल हैं। सभी नए राेगी नाेखा, बीकानेर शहर का बड़ा बाजार, गाेपेश्वर बस्ती, छबीली घाटी, चाैपड़ा बाड़ी, रामपुरा, वल्लभ गार्डन, अाचार्य चाैक, जाेशीवाड़ा, माेहल्ला व्यापारियान, नथूसरगेट, लक्ष्मीनाथ मंदिर, रानीबाजार, उदयरामसर, पुष्करणा स्कूल, समतानगर, सर्वाेदय बस्ती, शिवबाड़ी, हनुमानहत्था, तिलकनगर, वैष्णाे विहार आदि इलाकाें से हैं।

काेविड बंदाेबस्त...जिलेभर के अधिकारियाें की मीटिंग, छुट्टियां निरस्त, बाहर नहीं जाएंगे

शहर में सैंपलिंग बढ़ाने के साथ ही राेगियों की संख्या बढ़ने का अनुमान लगाते हुए प्रशासन ने साेमवार काे कई निर्णय लिए। कलेक्टर नमित मेहता ने जिलेभर के काेविड से जुड़े अधिकारियाें की मीटिंग में निर्देश दिए:-

  • पीबीएम जनाना हाॅस्पिटल में बैड लगे, बिजली का बंदाेबस्त हुआ लेकिन पानी और ऑक्सीजन लाइन चालू नहीं। दाे दिन में करने का निर्देश।
  • स्वास्थ्य टीमाें की संख्या बढ़ाकर आठ से 10 दिन में पूरे शहर की स्क्रीनिंग हाे।
  • जिलास्तर काेई भी अधिकारी पूर्व अनुमति के बिना अवकाश नहीं लेगा। मुख्यालय नहीं छाेड़ेगा।
  • शहर काे चार जाेन में बांटा गया है। जाेन के मुताबिक सैंपलिंग-रिपाेर्टिंग हाे।
  • सीएमएचओ हर दिन लिए गए सैंपल, पाॅजिटिव, नेगेटिव, रिकवर हुए मरीजाें की संख्या समाहित कर रिपाेर्ट देंगे।
  • मेडिकल काॅलेज प्राचार्य और सीएमएचओ मिलकर पाॅजिटिव से नेगेटिव हाेने वाले मरीजाें की रिपीट टेस्टिंग की नए नाॅर्म्स के मुताबिक व्यवस्था करेंगे।
  • कांटेक्ट ट्रेसिंग में पुलिस-स्वास्थ्य विभाग समन्वय बनाएं।

ये मीटिंग में शामिल 
अतिरिक्त कलेक्टर ए.एच.गाैरी, एडीएम सिटी सुनीता चाैधरी, यूआईटी सेक्रेट्री मेघराजसिंह मीना, एसडीएम बीकानेर रिया केजरीवाल, एसपी मेडिकल काॅलेज प्राचार्य डा.एस.एस.राठाैड़, पीबीएम हाॅस्पिटल सुपरिंटेंडेंट डा.माेहम्मद सलीम, सीएमएचओ डा.बी.एल.मीणा आदि।

अब साेशल क्वारेंटाइन...समाज करेगा पाॅजिटिव लोगों की देखभाल, पांच सामाजिक भवन चिह्नित 

बढ़ते काेविड राेगियाें के साथ ही इसके सामुदायिक संक्रमण का खतरा देखते हुए अब एसिम्टाेमैटिक मरीजाें के सार-संभाल की जिम्मेवारी सामाजिक स्तर पर उठाने की शुरुआत हाे रही है। बीकानेर जिला प्रशासन ने साेशल क्वारेंटाइन की थीम पर ऐसे सामाजिक भवनाें की पहचान की है जहां राेगियाें काे रखा जा सकता है। इसके साथ ही संबंधित समाज के प्रमुखाें से भी बातचीत की जा रही है। काेशिश यह हाेगी कि बगैर लक्षणाें वाले राेगियाें काे समाज के इन भवनाें में समाज की ओर से तय की गई व्यवस्थाओं में ही रखा जाए।

इससे राेगी भी सहज महसूस करेंगे। सामाजिक जिम्मेवारी भी निभाई जाएगी और जहां जरूरत हाेगी वहां प्रशासनिक और स्वास्थ्य संबंधी सहयाेग सरकार की ओर से दिया जाएगा। मसलन, दवाइयां, समय पर जांच। नर्सिंग देखभाल आदि।

भाजपा नेता बाेले, शहर के सामुदायिक भवनाें का काेविड नियंत्रण में उपयाेग हाें

भाजपा के शहर अध्यक्ष अखिलेशप्रतापसिंह के साथ कलेक्टर नमित मेहता से मिले प्रतनिधिमंडल ने काेविड नियंत्रण के पुख्ता प्रावधान करने की मांग उठाई। पूर्व अध्यक्ष डा.सत्यप्रकाश आचार्य, महामंत्री माेहन सुराणा, उपाध्यक्ष गाेकुल जाेशी, अरुण जैन आदि ने कहा, स्थानीय भवनाें का उपयाेग क्वारंटाइन सेंटर के रूप में किया जा सकता है। इससे मरीजों काे घर के नजदीक फ्रेंडली एन्वायर्नमेंट में उपचार मिल सकेगा।

तालमेल की कमी, परेशानी की शिकायतें 
चक्कर लगा रहे पॉजिटिव, बंद कमरों में पसीने से लथपथ

हंसा गेस्ट हाउस में भर्ती महिला राेगी स्वास्थ्यकर्मी काे बताया, थाेड़ा बुखार लग रहा है। उसने काेविड हाॅस्पिटल भेज दिया। वहां पहुंची ताे डाक्टर ने कहा, पेरासिटामाेल देनी है वह केयर सेंटर में भी दी जा सकती है। न भर्ती किया, न बैड दिया। दाे घंटे खड़ी रही। बाद में बैठने काे जगह दे दी। रात 12 बजे सीएमएचओ तक मामला पहुंचने के बाद एंबुलेंस भेजकर वापस केयर सेंटर बुलाया गया जहां महिला के पति सहित अन्य परिजन भर्ती हैं। डागा गेस्ट हाउस के बंद कमराें में पाॅजिटिव राेगियाें काे रख दिया।

बाहर न निकलने की हिदायत। एसी लगे हैं लेकिन बंद। बाहर एक तरफ काफी कूलर भी रखें हैं लेकिन वे कमराें में नहीं ले जा सकते। पसीने से लथपथ पाॅजिटिव व्यक्तियाें में शामिल भाजपा पार्षद ने सीएमएचओ से लेकर प्रशासनिक अधिकारियाें तक काे फाेन किया लेकिन काेई हल नहीं निकला। चेतावनी दी-हालात नहीं सुधरे ताे अनशन करूंगा। एक भाजपा नेता भी अधिकारियाें से संपर्क साधा लेकिन वे बेबस दिखे। जवाब दिया, व्यवस्थाएं करना निगम-न्यास का काम है। मरीज पहुंचाना, स्वास्थ्य सेवा देना स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेवारी।

  • डरने की बात नहीं है। सैंपल बढ़े हैं ताे स्वाभाविक है राेगी भी बढ़ेंगे। अच्छी बात है कि अधिकांश राेगी एसिम्टाेमैटिक यानी कम लक्षणाें वाले हैं। इन्हें रखने के साथ ही उपचार के भी सभी बंदाेबस्त हैं। सामाजिक उत्तरदायित्व की भावना काे देखते हुए सामाजिक भवनाें में मरीजाें काे रखने की दिशा में विचार व काम शुरू किया है। उम्मीद है इससे मरीज अच्छा फील करेंगे और जल्द स्वस्थ हाेंगे। -नमित मेहता, जिला कलेक्टर बीकानेर
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें